--Advertisement--

3 लाख रु. से भरा एटीएम ले गए, पुलिस के पास था लूट गैंग के सक्रिय होने का मैसेज

रात 1:30 से 1:50 बजे के बीच 3 लाख रु. से भरा एटीएम ले गए, डेढ़ बजे वहीं से गुजरे थे जवान

Danik Bhaskar | Jan 21, 2018, 06:36 AM IST

जोधपुर/बोरुंदा. बोरुंदा कस्बे में सोजत-गोटन मेगा हाइवे पर स्थित सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया का एटीएम को शुक्रवार रात 1.30 बजे से 1.50 बजे के बीच बदमाश पूरा उखाड़ ले गए। उसमें 2 लाख 90 हजार 200 रुपए थे। पुलिस ने सभी प्रमुख मार्गों पर नाकाबंदी करवाई लेकिन कोई पकड़ में नहीं आया। वाहन के टायरों के निशान के आधार पर कच्चे रास्ते पर भी तलाशी की गई लेकिन कोई सुराग नहीं मिले। इसी एटीएम पर दो साल में दो बार चोरी का प्रयास किया गया था। तीसरी बार में चोर पूरा एटीएम ही उखाड़ ले गए।

एक ट्रक ड्राइवर ने इसकी सूचना पुन्दलु चौराहा पर गश्त कर रही पुलिस को दी, लेकिन पुलिस के मौके पर पहुंचने से पहले ही एटीएम उखाड़ कर ले गए।

पुलिस ने शाखा प्रबंधक रमेशचन्द्र मीणा को सूचना दी। इसके बाद सहायक शाखा प्रबंधक अनुराग धनखड़, उप शाखा प्रबंधक संपत गहलोत व गार्ड अर्जुनसिंह पहुंचे।

नागौर सीमा में गए तब मैसेज का पता चला
पुलिस को एटीएम के लूट करने वाली गिरोह के क्षेत्र में सक्रिय होने की सूचना थी। गुरुवार रात जोधपुर में भी एटीएम उखाड़ ले जाने वाले थे कि पुलिस पहुंच गई। हालांकि बदमाश भागने में कामयाब हो गए। जिले में इन्टरनेट बंद होने के कारण समय पर जानकारी नहीं मिली, इससे यह वारदात हो गई। घटना के बाद जब पुलिस नाकाबंदी के दौरान नागौर सीमा पर गई तब मोबाइल पर मैसेज देखा।


थाने से आधा किमी दूर एटीएम, नहीं सुना सायरन
घटना के बाद जोधपुर से तकनीशियन वीरेंद्रसिंह व जयपुर से कमलकिशोर शर्मा पहुंचे। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर लुटेरों ने मात्र बीस मिनट में ही लोहे के तार में हुक लगाकर एटीएम उखाड़ लिया। झटके के साथ एटीएम बाहर आ गया और चंद मिनटों में गाड़ी में डालकर फरार हो गए। इससे लग रहा है कि लुटेरों ने पहले से कई बार रैकी की थी। वारदात के समय दो बार सायरन बजने की आवाज आई फिर भी किसी को भनक तक नहीं पड़ी। यहां से पुलिस थाना आधा किमी दूर है। तीसरी बार सायरन बजता उससे पहले ही नकाबपोश बदमाशों ने सिस्टम के पैनल से सभी तार काट लिए।

दो साल, तीसरी बार में सफल हुए बदमाश

सेन्ट्रल बैंक के इस एटीएम पर पहले भी दो बार चोरी के प्रयास हुए। 6 जुलाई 2015 की रात करीब 1:30 बजे एटीएम तोड़ने का प्रयास हुआ। मामला पुलिस में दर्ज है।

दूसरी वारदात 12 नवम्बर 2017 को मध्य रात्रि करीब 1:25 पर चोरी का प्रयास हुआ और कैमरे तोड़ ले गए। बाद में न्यू कॉलोनी में मिले। इसका मामला पुलिस ने दर्ज नहीं किया था।

तीसरी वारदात में 19 जनवरी की रात में 2 लाख 90 हजार 2 सौ रुपए लूट कर ले गए। पुलिस के जवान इस बैंक के आगे से रात 1.30 बजे ही गुजरे थे। यहां से करीब एक किलोमीटर दूर पुंदलु चौराहे पर एक ट्रक ड्राइवर ने गश्त कर रही पुलिस को सूचना दी कि पीछे एटीएम में तोड़फोड़ की जा रही है। पुलिस पहुंची तब तक बदमाश एटीएम ले जा चुके थे।