Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» Badmash On Four-Day Police Remand

अरेस्ट नहीं होता तो निलंबित DSO के पति से 20 लाख ले चुका होता बदमाश

गेहूं घोटाले के मामले में कथित सेटलमेंट कराने के बदले 45 लाख रुपए मांगने वाला 4 दिन के रिमांड पर

Bhaskar News | Last Modified - Feb 15, 2018, 06:38 AM IST

अरेस्ट नहीं होता तो निलंबित DSO के पति से 20 लाख ले चुका होता बदमाश

जोधपुर. गरीबों को बांटा जाने वाला 35 हजार क्विंटल से ज्यादा गेहूं आटा मिलों में पहुंचा व बाजार में कालाबाजारी कर तकरीबन 8 करोड़ रुपए का घोटाला करने के मामले में निलंबित डीएसओ आईएएस अधिकारी निर्मला मीणा के पति पवन मित्तल को एसीबी के इस केस में सैटलमेंट कराने का झांसा देकर 45 लाख रुपए की ठगी की कोशिश करने वाले बदमाश को चार दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार इस मामले में एसीबी एसपी का गनमैन होने का दावा करने वाला बदमाश सुनिल विश्नोई नहीं पकड़ा जाता, तो वह मंगलवार को पहली किस्त के रूप में 20 लाख रुपए भी ले चुका होता। आरोपी के मोबाइल फोन से ब्लैकमेलिंग के और भी कई मामले उजागर हो सकते हैं। एसीबी की स्पेशल यूनिट के डीएसपी जगदीश सोनी की ओर से रातानाडा थाने में मंगलवार को एक रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी।

इसमें बताया गया कि निलंबित डीएसओ निर्मला मीणा के पति पवन मित्तल से एक युवक कुछ दिन पहले मिला था। उसने खुद को एसीबी के एसपी अजयपाल लांबा का गनमैन बताते हुए कहा, कि वह निर्मला मीणा के खिलाफ दर्ज केस में सेटलमेंट करवा सकता है। मित्तल को विश्वास दिलाने के लिए उसने फर्जी वॉट्सएप आईडी बना रखी थी, जिसमें प्रोफाइल फोटो लांबा की लगा रखी थी और उसी से खुद के मोबाइल पर वॉट्सएप पर चैटिंग के मैसेज भी दिखाए।

पुलिस सूत्रों के अनुसार मित्तल उसके झांसे में भी आ चुके थे और मंगलवार को पहली किस्त के रूप में 20 लाख रुपए भी देने वाले थे। इसी बीच मित्तल मंगलवार सुबह एसपी लांबा से मिले और गनमैन के साथ हुई डील के बारे में चर्चा की। मित्तल की बातें सुन लांबा भी उस अज्ञात बदमाश के दुस्साहस पर आश्चर्य में पड़ गए। लांबा ने ऐसे किसी भी गनमैन के होने से ही इनकार करते हुए पूरे मामले की पड़ताल करने के लिए डीएसपी सोनी को निर्देश दिए।

डीएसपी सोनी की टीम ने रातानाडा इलाके में स्थित मित्तल के मकान की निगरानी शुरू की। वहां गुढ़ा विश्नोइयान निवासी सुनिल विश्नोई पुत्र खंगारराम का आना-जाना पाया गया। एसीबी ने इसकी सूचना रातानाडा थानाधिकारी रमेश शर्मा को दी, तो कुछ ही देर में सुनिल विश्नोई को पकड़ लिया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×