--Advertisement--

मम्मी-पापा गए थे खेत पर, घर में आग लगी तो भाई को बचा लाया 5 साल का जयदीप

जब आग लगी उस समय माता-पिता खेत में काम रहे थे, अंदर सो रहे थे तीन बच्चे

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 07:05 AM IST

बीकानेर (पूगल ). शुक्रवार शाम को चक 14 डीडी में जीतू सिंह के झोपड़े में अचानक आग लग गई। झोपड़ी के अंदर पांच साल का जयदीप, तीन साल का कानू सिंह व पांच माह का बच्चा सा रहा था। अचानक आग लगी तो जयदीप व कानू सिंह बाहर आ गए। जयदीप को अंदर साे रहे छोटे भाई की याद आई तो जलती झोपड़ी के अंदर वह घुस गया। अपने छोटे भाई को गोद में उठाकर ले आया।

झोपड़ी से उठी आग की लपटे देखकर उनके माता-पिता भी भागते हुए वहां पहुंचे। उन्होंने तीनों बच्चों को सुरक्षित देखकर राहत की सांस ली। इस दौरान आग इतनी तेजी से फैली की झोपड़ा पूरी तरह से उसकी चपेट में आ गया।

अन्य किसान जीतसिंह आदि भी वहां पहुंचे। आग पर काबू पाते ही इससे पहले झोपड़ा व उसमें रखा सारा सामान जलकर नष्ट हो गया। सूचना मिलने पर पूगल की कार्यवाहक तहसीलदार प्रतिज्ञा सोनी, टीआरए कैलाश सिंह राठौड़ मौके पर पहुंचे। उन्होंने घटना स्थल का जायजा लिया।


तहसीलदार सोनी ने बताया कि जयदीप एक बार भी हिचकिचाया नहीं। जलते झोपड़े में गया और अपने भाई को गोद में उठा लाया। पांच साल का जयदीप अभी तो अच्छे से बोल भी नहीं पाता, मगर उसने जो किया वह प्रेरणादायक है।