--Advertisement--

चेन्नई पुलिस के इंस्पेक्टर ने कबूला- मुझसे चली गोली से ही हुई थी साथी की माैत

भास्कर पैरेलल इन्वेस्टिगेशन पर पाली एसपी की मुहर, जांच में पुष्टि होने पर अाधिकारिक रूप से बताया- नाथुराम ने नहीं मारा

Dainik Bhaskar

Dec 17, 2017, 07:07 AM IST
Chennai police inspector s death revealed by jodhpur police

जोधपुर. जैतारण में चोरी के आरोपी नाथुराम जाट को पकड़ने आए चेन्नई पुलिस के इंस्पेक्टर पेरियापांडीयन की मौत उसी के साथी इंस्पेक्टर की गलती से चली गोली लगने से हुई थी। भास्कर ने घटना के पहले ही दिन पैरेलल इन्वेस्टिगेशन में यह बता दिया था कि नाथुराम ने न पिस्टल छीनी और न ही गोली चलाई थी, गोली तो साथी इंस्पेक्टर मुनीशेखर की पिस्टल से एक्सीडेंटल चली थी।

- क्राइम सीन रिक्रिएशन और अनुसंधान के बाद मुनीशेखर को भी कबूल करना पड़ा। आखिर तीन दिन बाद पाली एसपी दीपक भार्गव ने भी अधिकारिक तौर पर बता दिया कि मुनीशेखर की गलती से गोली चली जिससे पेरियापांडीयन की मौत हुई, आरोपियों ने हत्या नहीं की थी।

#भास्कर ने पहले ही दिन खुलासा किया और जांच में वो ही सामने आया

पहला दिन:-

- करोलिया में रात 2:50 बजे चेन्नई पुलिस ने दबिश दी। घरवालों ने चोर समझ हमला किया।

- इंस्पेक्टर मुनीशेखर ने मर्डर का मुकदमा दर्ज करवा कर कहा, कि आरोपियों ने गोली चला कर पेरियापांडीयन को मार दिया।

- भास्कर ने बताया कि गोली मुनीशेखर से ही चली थी नाथुराम ने नहीं चलाई। यानी हत्या का मुकदमा नहीं रहेगा।

दूसरा दिन:- स्टेट फोरेंसिक और पाली पुलिस की जांच के बिंदू बताए। जांच इस बात की कि गोली एक्सीडेंटल चली या सेल्फ डिफेंस में, किसी को मारने के इरादे से नहीं। गोली के नेचर ऑफ मार्क के मुताबिक गोली पेरियापांडीयन को हाथापाई में नजदीक से नहीं मारी गई थी। गोली का खोल तो घर के बाहर पड़ा मिला था।

तीसरा दिन :- क्राइम सीन रिक्रिएशन से बताया कि जब घरवालों ने हमला किया तो टीम के चार सदस्य बाहर भाग गए थे, पेरियापांडीयन पीछे रह गया। वह गेट पर चढ़ने का प्रयास कर रहा था और तेजाराम लाठी लेकर पीछे आ रहा था। उसी वक्त बाहर खड़े मुनीशेखर ने पिस्टल अन-कोक करनी चाही तो गोली चल गई।

...चौथे दिन यही एसपी ने कहा
- पाली एसपी दीपक भार्गव ने शनिवार को बताया कि इंस्पेक्टर मुनीशेखर ने जो मुकदमा दर्ज कराया था, घटना वैसी नहीं है।

- मुनीशेखर ने कहा था कि गोली आरोपियों ने चलाई, जबकि जांच व बयानों से स्पष्ट हो गया है कि मुनीशेखर से ही गलती से गोली चली जिससे पेरियापांडीयन की मौत हुई है। यानी आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 में केस नहीं चलेगा, चार्जशीट में मुनीशेखर भी 304-ए का आरोपी बनेगा। यह रिपोर्ट चेन्नई पुलिस को भेजी जाएगी।

- वहीं पुलिस पर हमले के आरोप में गिरफ्तार तेजाराम को दो दिन के रिमांड पर लिया है, उसकी पत्नी व बेटी को जेल भेज दिया है। अन्यों की तलाश की जा रही है।

Chennai police inspector s death revealed by jodhpur police
X
Chennai police inspector s death revealed by jodhpur police
Chennai police inspector s death revealed by jodhpur police
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..