--Advertisement--

पत्नी के साथ स्टेडियम गए तो कुत्ते पीछे पड़े, खेतों में की रनिंग; जीते 5 गोल्ड

लोगों के तानाें को बनाया अपनी ताकत,

Danik Bhaskar | Jan 16, 2018, 07:24 AM IST

श्रीगंगानगर. इस तस्वीर पर आप बिल्कुल मत जाइए, क्योंकि दिखने में इनकी कद-काठी जितनी छोटी हैं, संघर्ष, आत्मविश्वास व उपलब्धियों की फेहरिस्त उतनी ही बड़ी हैै। ये है बीरमाना गांव के शीशपाल लिंबा और उनकी पत्नी निशा लिंबा। कद 3.3 फीट तथा 3.4 फीट।

- इस दंपती ने दिसंबर में उदयपुर में आयोजित राज्य स्तरीय पैरा एथलेटिक्स स्पर्धा में पांच गोल्ड मैडल जीते हैं। शीशपाल ने तश्तरी थ्रो, शॉटपुट और पाॅवर लिफ्टिंग में तीन और निशा ने 100 और 200 मीटर की दौड़ में दो गोल्ड मैडल जीते। यह दपंती अब नेशनल एथलेटिक्स स्पर्धा में जीतने की तैयारी में जुटा है।

मुझे टिंगू कहा जाता, डिस्कस थ्रो नहीं था तो ईंट से अभ्यास किया
स्कूल से काॅलेज तक कोई मुझे टिंगू कहता तो कोई छाेटू। मैंने इसे ही अपनी सबसे बड़ी ताकत बनाया। काॅलेज की पढ़ाई होने के बाद मेरी शादी हो गई। संयोग से मेरी पत्नी निशा भी मेरे ही जितने कद की थी। मैंने तय किया कि अपनी पत्नी के साथ मिलकर ऐसा कुछ करूं, जिससे सबको हम पर नाज हो। मैंने यह इच्छा दाेस्त गुरजंट को बताई तो उसने मुझे पैरा ओलंपिक की जानकारी दी। अगले ही दिन पत्नी को साथ लेकर स्टेडियम के लिए निकल पड़ा। पहले ही दिन हमारे पीछे कुत्ते पड़े गए। हम वापस घर लौट आए। फिर हमने खेत में ही शॉटपुट, रनिंग व डिस्कस थ्रो की प्रैक्टिस ईंटों से की।