जोधपुर

--Advertisement--

पहले गोद और अब उजड़ गई मांग, दो मासूम बहनें रह गईं सिर्फ मां के भरोसे

झालामंड में प्रभु नगर निवासी एक परिवार के पैतृक गांव बोयल में थान पर धोक देकर लौटते समय हुआ हादसा।

Danik Bhaskar

Jan 03, 2018, 04:10 AM IST

जोधपुर/डांगियावास. झालामंड के प्रभू नगर इलाके में रहने वाले एक कुटुंब के मंगलवार दोपहर करीब दो बजे अपने पैतृक गांव बोयल स्थित थान पर धोक देकर घर लौटते समय हुए सड़क हादसे ने दो घरों के चिराग बुझा दिए। इस परिवार के पांच सदस्य जिस स्कॉर्पियो में सवार थे, उसकी डांगियावास बाइपास पर स्थित ढाका होटल के निकट सामने से आ रहे तेल टैंकर से भिड़ंत हो गई।

- इस हादसे में स्कॉर्पियो में सवार बुजुर्ग महिला सायरी देवी (65) पत्नी चंद्राराम प्रजापत, उनकी बड़ी बेटी ज्योति (45) पत्नी कैलाश और पोते प्रकाश (20) पुत्र प्रेमाराम व भींवराज (22) पुत्र गिरधारीलाल की मौत हो गई, जबकि एक पोता अर्जुन कुमार (18) पुत्र घेवरराम गंभीर रूप से घायल हो गया। इसी तरह, टैंकर में सवार दो बच्चों सहित तीन जने भी घायल हो गए।

- जानकारी के अनुसार, कमठा कारीगर का काम करने वाले प्रकाश प्रजापत की शादी करीब डेढ़ साल पहले सुगना के साथ हुई थी। उसके संतान तो हुई, लेकिन जन्म के तीन-चार दिन बाद ही उसकी मौत हो गई थी। सुगना की दुबारा गोद भरे जाने से पहले ही इस हादसे ने उसका सुहाग उजाड़ दिया। यह स्कॉर्पियो प्रकाश के काकी ससुर की है, जो गांव जाने के लिए मांगकर ले गए थे।

- गाड़ी भींवराज चला रहा था जो रिश्ते में सायरी देवी का पोता था। उसकी शादी कुछ वर्ष पहले रेखा के साथ हुई थी और इससे उसके दो बेटियां है। इनमें एक तीन साल की और दूसरी महज चार महीने की है। भींवराज किसी प्राइवेट मार्केटिंग कंपनी में काम करता था।

स्कॉर्पियो पलट गई

- डांगियावास थानाधिकारी सुरेश चौधरी ने बताया कि टैंकर के अगले हिस्से की टक्कर स्कॉर्पियो के ड्राइवर साइड पर लगी। इससे स्कॉर्पियो पलट गई। हादसे में गंभीर घायल अर्जुन कुमार को एमडीएम अस्पताल के सर्जिकल आईसीयू में भर्ती करवाया गया।

- टैंकर चालक अशोक विश्नोई (30) पुत्र सुखराम सहित उसमें सवार आशीष (15) पुत्र राणाराम और मनीष (15) पुत्र रामूराम भी घायल हो गए। उन्हें बासनी थाना रोड पर स्थित निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

बाइपास पर लग गई वाहनों की लंबी कतारें
- हादसे के बाद क्षेत्रवासियों व राहगीरों ने घायलों को बाहर निकालने की कोशिश शुरू की। तब तक डांगियावास पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और घायलों को एमडीएम अस्पताल भिजवाया।

- भीषण हादसे की सूचना पर डीसीपी (ईस्ट) डॉ. अमनदीप सिंह कपूर, एसीपी पूजा यादव सहित अन्य अधिकारी भी वहां पहुंचे। तब तक मुख्य मार्ग पर वाहनों की कतार लग गई।

- पुलिस ने क्रेन की मदद से दोनों क्षतिग्रस्त गाड़ियों को हटवाकर यातायात चालू करवाया।

रिश्तेदार को भी चलने का कहा था लेकिन गया नहीं
- हादसे की जानकारी मिलने पर राजस्थान शिल्प एवं माटी कला बोर्ड के सदस्य अशोक झालामंड सहित बड़ी संख्या में झालामंड क्षेत्र के लोग एमडीएमएच पहुंचे।

- इन्हीं में शामिल झालामंड निवासी प्रदीप प्रजापत ने बताया, कि सुबह बोयल रवाना होने से पहले उसे भी साथ चलने के लिए कहा था, लेकिन वह किसी काम की वजह से उनके साथ नहीं गया। दोपहर बाद हादसे की सूचना मिली, तो स्तब्ध रह गया।

- प्रदीप ने बताया कि बीती रात तो वह प्रकाश, भींवराज व अर्जुन सहित अन्य दोस्तों के साथ बैठा था। रात की बातें याद कर प्रदीप की आखें भी नम हो उठीं।

इधर, सूरसागर में तेज रफ्तार कार की चपेट से स्कूटी सवार बुजुर्ग की मौत

- सूरसागर राजबाग इलाके में एक तेज रफ्तार कार ने स्कूटी पर जा रहे बुजुर्ग को चपेट में ले लिया। घायल बुजुर्ग की मंगलवार को एमडीएम अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई।

- सूरसागर पुलिस ने बताया कि राजबाग सुखराम नगर निवासी जयनारायण आसेरी (68) पुत्र बालमुकुंद सोमवार शाम को स्कूटी से अपने घर की तरफ लौट रहे थे। वे अपने घर से कुछ दूर पहले मोड़ पर पहुंचे ही थे, कि एक कार के चालक ने लापरवाही से वाहन चलाते हुए बुजुर्ग की स्कूटी को टक्कर मार दी। इससे वे नीचे गिर पड़े।

- गंभीर रूप से घायल बुजुर्ग को एमडीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां मंगलवार सुबह उनकी मौत हो गई। पुलिस ने उनके बेटे बृजमोहन की रिपोर्ट पर केस दर्ज किया है।

Click to listen..