--Advertisement--

रात के सन्नाटे को चीरती है बोतलों की टन्न...टन्न..., चौकन्ने हो जाती है BSF

ऑपरेशन सर्द हवा: अंतरराष्ट्रीय सीमा पर चौकसी की देशी तकनीक, तारबंदी पर बीएसएफ का 'बॉटल अलार्म'

Danik Bhaskar | Jan 29, 2018, 05:04 AM IST

बीकानेर. रात के सन्नाटे में बोतलों के टकराने पर टन्न...टन्न...की आवाज सुनाई देते ही सीमा प्रहरी चौकन्ने हो जाते हैं। राइफल थामे उस दिशा में दौड़ते हैं, जहां से आवाज आती है। कुछ देर इधर-उधर छानबीन करते हैं। नाइट विजन दूरबीन से दूर तक नजर दौड़ाई जाती है। जमीन पर किसी जानवर के निशान दिखने के बाद तसल्ली हो जाती है कि घुसपैठिया नहीं था।

- सीमा सुरक्षा बल राजस्थान फ्रंटियर अंतरराष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा के लिए 'बॉटल अलार्म' की देशी तकनीक अपना रहा है।

- 'ऑपरेशन सर्द हवा' के दौरान श्रीगंगानगर, बीकानेर से लेकर जैसलमेर तक 1047 किलोमीटर क्षेत्र में फैली तारबंदी पर बॉटल अलार्म काफी कारगर साबित हो रहे हैं।

- तारबंदी पर यूं तो घंटिया भी हैं, लेकिन कई बार रेत आ जाने या जंक लगने के कारण वे बज नहीं पाती। बोतल चूंकि एक साथ लटकी होती हैं, इसलिए तारबंदी पर हरकत होते ही आपस में टकराकर आवाज करती हैं। इससे गश्ती दल चौकन्ना हो जाता है।


#सुरक्षा की यह भी तकनीक

1. टिफ लेयर सिस्टम
जमीन पर बिछा एक बारीक तार। रात के समय घुसपैठिए के पैर रखने मात्र से ही टूट जाता है। एक तेज धमाके के साथ रोशनी होती है। घुसपैठिया बीएसएफ की नजरों से बच नहीं पाता।

2. कोबरा वायर
गेट के पास लगे अलग-अलग रंगों के बल्बों से जुड़े करंट वाले तार। यदि घुसपैठिया तारबंदी पर चढ़ने की कोशिश करेगा तो किसी भी तार के टूटने से एक बल्ब बंद हो जाएगा। प्रहरी की नजरों से नहीं बच पाएगा।


हर सौ मीटर पर दो बोतल
- भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा की तारबंदी पर सुरक्षा में इजाफा करने के लिए हर सौ मीटर पर दो बोतलों को तारबंदी से बांधा गया है।

- दिन के समय प्रहरियों को दूर तक सब कुछ नजर आता है, लेकिन रात के समय उन्हें फ्लड लाइटों के प्रकाश और दूरबीन पर ही निर्भर रहना पड़ता है। ऐसे में सुरक्षा का यह देसी तरीका काफी कारगर साबित हुआ है।

- रात के समय प्रहरियों के बीच दूरी अधिक होने का फायदा उठाकर यदि कोई घुसपैठिया तारबंदी पर चढ़ने की कोशिश भी करेगा तो यह बोतलें बज उठेंगी।

सीमा पर अलर्टनेस बढ़ाने के लिए यह देशी तरीका है। काफी कारगर भी है। तारबंदी पर कोई हाथ भी लगाए तो बोतलें आपस में टकराकर आवाज करती हैं, जिससे संतरी चौकन्ना हो जाता है। बॉर्डर पर इन दिनों ऑपरेशन सर्द हवा जारी है। हमारे जवान पूरी तरह मुस्तैद हैं। सीमा पर शांति है।
- यशवंत सिंह, डीआईजी, बीएसएफ