--Advertisement--

पहले पार्टी की, फिर कार लूटी; गैंग में इंजीनियरिंग और नवोदय स्कूल के पासआउट भी

स्कॉर्पियो पलटने पर आई पुलिस को पीटकर गश्ती जीप लूटने वाला 1 बदमाश पकड़ा, गैंग के आठों बदमाशों की उम्र 20 से 25

Danik Bhaskar | Jan 28, 2018, 05:20 AM IST

जोधपुर. जोधपुर-जैसलमेर हाईवे पर गत शुक्रवार रात पुलिस की चेतक टीम को पहले पीटने और उनकी जीप लूटने वाले एक बदमाश को झंवर पुलिस ने शनिवार को पकड़ लिया। इसके साथ ही पुलिस ने इस गैंग का भी खुलासा किया है। गिरफ्तार बदमाश शिव थानांतर्गत पोषल निवासी नबी खां उर्फ नवाब खां (24) सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा है। इस गिरोह का सरगना भैराराम जाट और उसका साथी लक्ष्मण पचपदरा के नवोदय स्कूल में पढ़ चुके हैं। पुलिस गैंग में शामिल 7 अन्य बदमाशों की तलाश में है।

- पुलिस पूछताछ में सामने आया कि बदमाशों का प्लान हाईवे अथॉरिटी की पेट्रोलिंग गाड़ी लूटकर उसमें तस्करी को अंजाम देने का था। इसी बीच उनकी खुद की स्कॉर्पियो पलट गई। इसके बाद वहां पुलिस टीम आई तो बदमाशों ने जवानों से ही मारपीट कर उनका सामान और जीप लूट ली थी।

वकील से मिलने जोधपुर आ रहा था

- डीसीपी (वेस्ट) समीर कुमार सिंह ने बताया कि वारदात का खुलासा करने के लिए एसीपी (बोरानाडा) सिमरथाराम की अगुवाई में विशेष टीम बनाई गई।

- इसमें शामिल झंवर थानाधिकारी जब्बरसिंह व टीम को सूचना मिली कि वारदात में शामिल बदमाश नबी प्राइवेट गाड़ी से जोधपुर में वकील से मिलने जा रहा है।

- टीम ने धवा इलाके में नाकाबंदी कर नबी को पकड़ा। पुलिस पूछताछ में उसने अन्य बदमाशों के साथ वारदात करना स्वीकार किया, तो पुलिस ने उसे बापर्दा गिरफ्तार कर लिया।

पूरी रात घटनास्थल से आधा किमी दूर छिपे, आला अफसर भी आए पर ढूंढ़ नहीं पाए

- नबी ने पुलिस पूछताछ में बताया कि गत शुक्रवार को बाड़मेर के सोडियार निवासी भैराराम जाट, शिवकर निवासी लक्ष्मण पारीक, रामजी की गोल निवासी प्रकाश पुरी के साथ स्कॉर्पियो में कल्याणपुर के डोली इलाके में आया था। यहां से डोली निवासी महिपाल डारा, कालू उर्फ हड़मान विश्नोई व एक अन्य को साथ लिया। यहां से वे जोलियाली पहुंचे और मनीष विश्नोई को साथ लेकर हाईवे पर आए। यहां वेे तस्करी के लिए हाईवे अथॉरिटी की गश्ती गाड़ी लूटने की फिराक में थे। टोल नाके के निकट नरपत पेट्रोल पंप के सामने एक ढाबे पर उन्होंने दारू पार्टी की। यहां से वे दूसरी होटल पर हल्दी-रोटी की पार्टी करने निकले। रास्ते में इनकी स्कॉर्पियो पलट गई। वहां पुलिस की टीम आई तो उन्होंने मारपीट कर जीप लूट ली। नबी खां और मनीष विश्नोई वहां से पैदल ही भाग निकले। घटनास्थल से करीब आधा किमी दूर वे पूरी रात झाड़ियों में छुपे रहे। इस दौरान पुलिस टीमों से लेकर पुलिस कमिश्नर तक कई आला अफसर मौके पर आए। सुबह होने पर नबी खां एक प्राइवेट बस से बालोतरा चला गया।

सरगना के खिलाफ 11 केस

भैराराम जाट, लक्ष्मण, प्रकाशपुरी व नबी के खिलाफ बाड़मेर के रागेश्वरी थाने में 20 दिन पहले मारपीट का केस हुआ था। मामले में सभी फरार हैं। प्रकाशपुरी पूर्व में एनडीपीएस के मामले में जेल रह चुका है। डिप्लोमा के दौरान नबी का परिचय लक्ष्मण से हुआ थ। उसी के मार्फत भैराराम व अन्य से दोस्ती हुई। भैराराम पर लूट, जानलेवा हमलों के 11 केस दर्ज हैं।