जोधपुर

--Advertisement--

व्हील चेयर पर गला घोंट ब्लेड से काटा, पास में टेबल पर पड़े मिले 26000 रुपए

झाड़-फूंक करते थे बाबू पहलवान, पुलिस किसी रंजिश और प्रॉपर्टी विवाद के एंगल से जांच में जुटी।

Danik Bhaskar

Dec 22, 2017, 04:06 AM IST
पुलिस को डाइनिंग टेबल के पास व्हील चेयर पर बाबू पहलवान का शव मिला। गला बुरी तरह कटा हुआ था। पुलिस को डाइनिंग टेबल के पास व्हील चेयर पर बाबू पहलवान का शव मिला। गला बुरी तरह कटा हुआ था।

जोधपुर. भीतरी शहर के व्यस्त रहने वाले विजय चौक में गुरुवार दिनदहाड़े 4 बदमाशों ने घर में अकेले रहते एक बुजुर्ग की हत्या कर दी। बदमाशों ने व्हीलचेयर पर बैठे बाबूलाल वैष्णव (70) उर्फ बाबू पहलवान का पहले तो गमछे से गला घोंटा, फिर ब्लेड से काटकर हत्या कर दी। तकरीबन 15-20 मिनट में यह वारदात हो गई। बदमाश बाहर निकलते, उससे ठीक पहले बुजुर्ग की देखभाल करने वाली युवती वहां पहुंची। उसने दरवाजा खटखटाया तो भीतर से एक बदमाश ने कहा कि पूजा चल रही है। कुछ मिनट में ही चारों बदमाश बाहर निकल गए। इसके बाद युवती ने घर में जाकर देखा तो वारदात का पता चला। दिनदहाड़े बुजुर्ग की हत्या की खबर से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। फिलहाल, शव एमजीएच मॉर्चरी में रखवाया गया है।

मर्डर केस में जेल भी गए
- कई वर्षों पहले बाबूलाल मुंशीड़ा मर्डर केस में जेल गए थे। फिर वे राजनीति में सक्रिय रहे। वैष्णव समाज की गुलाब सागर संस्था में 1985 से 1993 तक लगातार 3 बार अध्यक्ष रहे।

- प्रताप नगर थानांतर्गत अखेराजजी का तालाब इलाके में रहने वाले उनके सास-ससुर की भी कुछ वर्ष पहले हत्या कर दी गई थी।

#सुरक्षित माने जाने वाले भीतरी शहर में सुबह 11 बजे की घटना ने लोगों को दहलाया

सुबह 10:50

- बाबूलाल वैष्णव के पैर का कुछ माह पूर्व ऑपरेशन होने के कारण वे व्हीलचेयर पर बैठे थे। उनकी पत्नी सुशीला अलग रहती हैं।

- बड़ा बेटा नरेश ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में, छोटा बेटा हितेश बेंगलुरु में रहता है।

- बेटी टीना के अंतरजातीय विवाह के बाद से ही वैष्णव ने उससे नाता तोड़ लिया था। वे अकेले ही रहते थे। रोजाना खाना बनाने वाली महिला कमला भोजन बनाकर निकली थी।

सुबह 11 बजे
- करीब इसी समय 4 बदमाश वैष्णव के घर में घुसे। उन्होंने व्हीलचेयर पर बैठे वैष्णव का गमछे से गला घोंटा। वैष्णव ज्यादा प्रतिरोध नहीं कर पाए।

- इसी दौरान बदमाशों ने ब्लेड से उनका गला बेरहमी से काट दिया। उन्होंने वहीं डायनिंग टेबल के पास दम तोड़ दिया।

सुबह 11:20 बजे
- देखभाल करने वाली मनीषा ने गेट खटखटाया। मनीषा ने बताया कि भीतर से ही युवक ने कहा कि पूजा चल रही है। इसके चंद मिनट बाद एक के बाद 4 युवक बाहर निकले।

- मनीषा घर में घुसी, तो सीढ़ियों के पास मुख्य दरवाजे पर ताला था। वह दूसरे कमरे में घुस बाथरूम के रास्ते भीतर गई तो बुजुर्ग का शव मिला।

किला रोड तक गए स्निफर डॉग

- डीसीपी (ईस्ट) डॉ. अमनदीप सिंह कपूर ने बताया, कि गुरुवार सुबह पुलिस को सूचना मिली कि विजय चौक में जाट हॉस्टल के सामने रहने वाले बाबू पहलवान की किसी ने हत्या कर दी है।

- एसीपी (सेंट्रल) विक्रमसिंह, सदर कोतवाली थानाधिकारी इंद्रसिंह, नागौरी गेट थानाधिकारी लूणसिंह टीम के साथ मौके पर पहुंचे।

- पुलिस के स्निफर डॉग घर से बाहर निकलकर कुछ दूरी पर एक संकरी गली में होते हुए किला रोड तक पहुंचे। पुलिस को शक है कि बदमाश इसी रास्ते से भाग निकले होंगे।

वसीयत में पूरी प्रॉपर्टी बड़े बेटे के नाम, छोटा बेटा-बेटी बेदखल
- पुलिस जांच में सामने आया, कि बाबू पहलवान ने कुछ समय पहले ही अपनी वसीयत तैयार कराई और सारी प्रॉपर्टी बड़े बेटे नरेश के नाम कर दी थी।

- मुंबई में रह रही बेटी टीना 16 नवंबर से जोधपुर में अपने पिता से अलग रह रही मां सुशीला के पास आई हुई है। बाबू पहलवान की एक दुकान बोम्बे मोटर्स एरिया में है।

- उन्होंने अपने परिचित को बताया भी था, कि दुकान बेचने से 70-80 लाख रुपए मिलने वाले हैं।

कमला जो बाबू पहलवान के घर पर खाना बनाती थी। कमला जो बाबू पहलवान के घर पर खाना बनाती थी।
झाड़-फूंक करते थे बाबू पहलवान, पुलिस किसी रंजिश और प्रॉपर्टी विवाद के एंगल से जांच में जुटी है। झाड़-फूंक करते थे बाबू पहलवान, पुलिस किसी रंजिश और प्रॉपर्टी विवाद के एंगल से जांच में जुटी है।
मनीषा घर में उनकी देखभाल करती थी। मनीषा घर में उनकी देखभाल करती थी।
Click to listen..