--Advertisement--

स्टाफ-डॉक्टर ‘आप’ बोलकर बात करेंगे, गार्ड के हाथ में नहीं होगा डंडा

सरकारी अस्पतालों में होगा ‘फील गुड’

Danik Bhaskar | Jan 10, 2018, 07:09 AM IST

जोधपुर. अब सरकारी अस्पतालों में गार्ड के हाथ में डंडा नहीं होगा। डॉक्टर और स्टाफ मरीजों और उनके परिजनों को ‘आप’ कहकर संबोधित करेंगे। डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज के संबद्ध अस्पतालों, अन्य जिला और सैटेलाइट अस्पतालों में यह व्यवस्था की जा रही है। कॉलेज के प्राचार्य डॉ. अजय मालवीय ने इस संबंध में सभी अस्पतालों के अधीक्षक और इंचार्ज को आदेश दिए हैं। उन्होंने मंगलवार को आदेश निकाल कर अस्पतालों में लगे गार्डों के हाथों से डंडा भी छीन लिया है।

- उन्होंने कहा कि मरीज और उनके परिजन जानवर नहीं हैं। उन्हें डंडे से काबू करने की प्रवृत्ति रोकने के लिए यह व्यवस्था की जा रही है। यदि गार्ड मरीज से प्रेम और अच्छे ढंग से बात करता है तो कहीं भी डंडे की जरूरत नहीं रहेगी।

- डॉ. मालवीय ने सभी अस्पताल के अधीक्षकों को यह भी आदेश दिए हैं, कि अस्पताल का स्टाफ पार्किग में ही अपनी गाड़ी लगाए और एंबुलेंस निर्धारित स्थान पर खड़ी रहे। यदि किसी की भी गाड़ी पार्किग के अलावा अन्य स्थान पर दिखाई देती है तो उसे तुरंत ट्रैफिक पुलिस को बुलाकर उठाने की कार्रवाई की जाए।

सम्मानजनक व्यवहार से झगड़ों में कमी आएगी: डॉ. मालवीय
डॉ. मालवीय ने बताया, कि नई व्यवस्था लागू करने से अस्पताल में आने वाले मरीज को शिष्टाचार का माहौल मिलेगा। आमतौर पर मरीज और परिजनों की वेशभूषा या पद प्रतिष्ठा के अनुसार सम्मान दिया जाता है। यदि स्टाफ और डॉक्टर मरीजों और उनके परिजनों से सम्मान से बोलेंगे तो अस्पतालों में होने वाले झगड़ों में भी कमी आएगी।