--Advertisement--

रेलवे के इतिहास में पहली बार जोधपुर को 575 करोड़ का बजट, डबल लाइन भी मिली

सिर्फ भास्कर में: जोधपुर-मेड़ता रोड के बीच बदली जाएगी 98 Km पटरी, पुष्कर व मेड़ता नई लाइन के लिए इस बार दिए एक कर

Dainik Bhaskar

Feb 07, 2018, 07:28 AM IST
rail budget for Jodhpur first time in history is 575 crores

जोधपुर. रेलवे के इतिहास में पहली बार जोधपुर मंडल पर भारत सरकार मेहरबान हुई है। माल लदान में कई सौ करोड़ की आमदनी देने वाले जोधपुर को इस बार आम बजट में रेलवे के हिस्से से 575 करोड़ रुपए की सौगात दी गई है। हालांकि इस साल राजस्थान में चुनाव हैं, इसी के मद्देनजर उत्तर-पश्चिम रेलवे को अच्छी खासी राशि दी गई है जिसके चलते जोधपुर मंडल को फायदा मिला है। अब तक के बजट में बरसों से जोधपुर 100 करोड़ के अंदर रहता है, पिछले बजट में यह आंकड़ा 100 करोड़ से कुछ ही ऊपर गया था।


इस साल रेलवे ट्रेनों के सुरक्षित संचालन पर जोर दे रहा है। इसके लिए पुरानी पटरियों को बदला जा रहा है तो उनकी मरम्मत भी बड़े पैमाने पर हो रही है। जोधपुर मंडल में जोधपुर व मेड़ता रोड के बीच पटरी काफी पुरानी हो चुकी है तो इस पटरी की क्षमता से करीब 50 फीसदी उपयोग ज्यादा हो चुका है। ऐसे में रेलवे इस मार्ग पर 98 किलोमीटर पटरी को बदलेगा, जिस पर 65 करोड़ से ज्यादा की राशि खर्च की जाएगी। पटरी बदलने, स्लीपर बदलने, जोड़ सुरक्षित करने जैसे कार्य पर जोधपुर मंडल में पटरियों पर इस साल 143.75 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

जोधपुर सिटी के लिए ये महत्वपूर्ण
- भगत की कोठी स्टेशन को टर्मिनल के रूप में विकसित करने का प्रस्ताव है। दक्षिण भारत के लिए अधिकांश ट्रेनें यहीं से चलती हैं। ऐसे में ट्रेनों की मरम्मत व साफ-सफाई के लिए नई पिट लाइन बनेगी। इसकी शुरुआत के लिए 4.78 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
- सिटी स्टेशन की वाशिंग लाइन संख्या 1, 2 व 3 को नए सिरे से तैयार किया जाएगा। इससे ट्रेनों की सफाई बेहतर ढंग से हो सकेगी और रेलवे कर्मचारियों के ​लिए भी यहां काम करना सहूलियत भरा होगा। इस पर इस साल 25 लाख रुपए खर्च होंगे।
- रेलवे वर्कशॉप में प्रतिमाह 75 कोच की मरम्मत होती है। इसे प्रतिमाह 100 करने सहित यहां अन्य सुविधाएं जुटाई जाएंगी। इसके लिए रेलवे ने वर्कशॉप को साढ़े आठ करोड़ रुपए आवंटित किए हैं।

रेलवे बोर्ड चेयरमैन ने बजट में शामिल करवाई डबल लाइन
रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने जोधपुर दौरे के दौरान फुलेरा-डेगाना डबल लाइन की सुनवाई की और यहां के अधिकारियों ने जब राइकाबाग व डेगाना के बीच डबल लाइन की पहली जरूरत बताई तो उन्होंने इसे बजट में शामिल करने के हाथो-हाथ निर्देश दिए थे। बजट आते ही इस लाइन के लिए प्रावधान कर दिया गया। दोनों स्टेशन के बीच 145 किलोमीटर लंबी इस लाइन के लिए 762 करोड़ की योजना मंजूर की गई है। इसका अंतिम सर्वे व आधारभूत कार्य की शुरुआत के लिए इस वर्ष दस लाख रुपए का प्रावधान किया गया है। फुलेरा से डेगाना तक के लिए पिछले वर्ष 140 करोड़ का प्रावधान किया गया था तो इस साल 175 करोड़ आवंटित किए गए हैं।

दो जरूरतें, धीमी गति से बढ़ेंगी
पिछले बजट में जोधपुर-उदयपुर को जोड़ने के लिए मारवाड़ व मावली के बीच आमान परिवर्तन मंजूरी दी थी। इसके लिए गत वर्ष ‌~1 लाख दिए थे। इस साल काफी उम्मीद थी, लेकिन मिले 20 लाख ही। इधर, पुष्कर-मेड़ता रोड 59 किमी नई लाइन के 323 करोड़ के प्रोजेक्ट के लिए पिछले साल 20 हजार ही मिले थे, इस बार एक करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।

X
rail budget for Jodhpur first time in history is 575 crores
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..