Home | Rajasthan | Jodhpur | News | rajasthan BJP MLAs said Police fail to protect people

BJP विधायकों ने कहा- सुरक्षा करने में पुलिस फेल, जनता को हथियार लाइसेंस दें

बिना आला अफसर की सहमति के कोई पुलिसकर्मी कैसे रिश्वत खा सकता है।

Bhaskar News| Last Modified - Feb 08, 2018, 08:09 AM IST

1 of
rajasthan BJP MLAs said Police fail to protect people

जयपुर. विधानसभा में बुधवार को गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया को अपने ही विधायकों ने घेर लिया। पुलिस विभाग की कार्यशैली को लेकर जमकर खरीखोटी सुनाई। मामला जोधपुर के सामराऊ गांव में हिंसा व अलवर में खानों से वसूली से जुड़ा था। शेरगढ़ से भाजपा विधायक बाबूसिंह राठौड़ ने सामराऊ में हुई जातीय हिंसा, आगजनी व लूटपाट के लिए पुलिस तंत्र को जिम्मेदार बताया।

 

- उन्होंने कहा कि पुलिस के सामने कई घरों मेें लूटपाट हुई, दुकानें जला दी गईं। महिला-बुजुर्गों पर अत्याचार हुए। जब यह सब हो रहा था तो एसपी, अतिरिक्त उपाधीक्षक, उपाधीक्षक व छह एसएचओ मूकदर्शक बने हुए थे। लोगों की सुरक्षा नहीं करने वाले अफसर किस काम के? पुलिस अगर सुरक्षा करने में नाकाम है तो लोगों को लाइसेंस दिलवाओ, ताकि खुद की रक्षा में हथियार उठा सकें।

- अलवर विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने खानों से वसूली का मसला उठाते हुए कहा कि एसीबी ने कार्रवाई कर कई पुलिसकर्मियों को पकड़ा। उन्होंने कहा कि बिना आला अफसर की सहमति के कोई पुलिसकर्मी कैसे रिश्वत खा सकता है। 

- भाजपा विधायकों के आरोपों से गृह मंत्री ही नहीं, बल्कि सत्तापक्ष के लोग भी सकते में रह गए। उनके साथ विपक्षी सदस्यों ने भी हंगामा शुरू कर दिया। माहौल उस समय गर्माया जब प्रश्नकाल में गृह मंत्री ने कहा कि एसीबी ने चार साल में 275 प्रकरण दर्ज किए, इनमें से 171 प्रकरणों में 200 पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया है।

 

जोधपुर : सामराऊ हिंसा

जनता की सुरक्षा नहीं कर पाएं, ऐसे अफसर किस काम के

 

शेरगढ़ विधायक बाबूसिंह राठौड़ ने सामराऊ की हिंसा पर कहा- लोगों की सुरक्षा नहीं करने वाले अफसर किस काम के? पुलिस अगर सुरक्षा करने में नाकाम है तो लोगों को लाइसेंस दिलवाओ, ताकि खुद की रक्षा में अपने हथियार उठा सकें। इस घटना के लिए उन्होंने खींवसर विधायक हनुमान बेनीवाल को भी जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने इस मामले में गृहमंत्री से  व्यक्तव्य देने और उच्चस्तरीय जांच की घोषणा करने की मांग की। 
- गृहमंत्री ने 1 माह में मामले को गंभीरता से दिखवाकर दोषी पाए जाने वालों पर कार्रवाई की घोषणा की।

 

अलवर : खानों से वसूली मामला​

एसीबी ने छोटी मछलियां पकड़ीं, मगरमच्छों को छोड़ दिया
रामगढ़ विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने कहा कि खानों से 15 लाख रु. की वसूली की जा रही है। भ्रष्टाचार के मामले में एसीबी के हत्थे चढ़े पुलिसकर्मियों के मुद्‌दे पर वे बोले-सरकार ने मछलियों यानी सिपाही, हैड कांस्टेबल, एएसआई जैसे पुलिस वालों को पकड़ा है, लेकिन मगरमच्छों को छोड़ दिया। उन्होंने अलवर एसपी पर भी कई आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि गृहमंत्री उनसे मुक्ति दिलाएं।
- गृहमंत्री ने कहा- जांच करवाई जाएगी और कोई दोषी पाया गया तो सौ प्रतिशत कार्रवाई की जाएगी।

 

गृहमंत्री बोले- सजा दिलाने में राजस्थान नंबर 1​

कटारिया ने कहा कि एसीबी में दर्ज प्रकरणों में सजा दिलाने के प्रतिशत के हिसाब से राजस्थान देश में पहले स्थान पर है। पिछले चार साल में एसीबी ने भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किए गए अधिकारियों-कार्मिकों में से 47 फीसदी को सजा दिलवाई है। राष्ट्रीय स्तर पर यह आंकड़ा 12 प्रतिशत है। 

 

 

 

rajasthan BJP MLAs said Police fail to protect people
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now