जोधपुर

--Advertisement--

गेहूं घोटाले की आरोपी निलंबित IAS निर्मला मीणा को बेल या जेल, फैसला आज

बेल मिली तो एसीबी खारिज कराने सुप्रीम कोर्ट जाएगी, नहीं मिली तो गिरफ्तारी के लिए छापे पड़ेंगे

Dainik Bhaskar

Mar 15, 2018, 04:41 AM IST
Suspended IAS Nirmala Meena gets bail in jail Decide today

जोधपुर. आठ करोड़ के राशन गेहूं घोटाले की मुख्य आरोपी निलंबित डीएसओ व आईएएस निर्मला मीणा की अग्रिम जमानत पर गुरुवार को फैसला होना है। हाईकोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर अंतरिम रोक लगा रखी है, जिसके खिलाफ एसीबी सुप्रीम कोर्ट गई थी। सुप्रीम कोर्ट में 9 मार्च को स्पेशल लीव पिटिशन एडमिट नहीं हुई। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि पहले हाईकोर्ट से फैसला हो, तब यहां आना।

सुप्रीम कोर्ट ने इसी आदेश में हाईकोर्ट से भी कहा कि वे 15 मार्च को इस पर फैसला कर दें। इस लिहाज से गुरुवार को मीणा को या तो अग्रिम जमानत मिल जाएगी, या नहीं मिलेगी। जमानत मिली तो एसीबी को फिर से सुप्रीम कोर्ट जाने का मार्ग मिल जाएगा, ताकि वहां से उसे खारिज कराया जा सके। यदि जमानत नहीं मिली तो एसीबी उनकी गिरफ्तारी के लिए छापे आरंभ कर देगी, क्योंकि मीणा और उनके पति दो दिन से गायब हैं, एसीबी के बुलावे पर पूछताछ के लिए हाजिर नहीं हो रहे हैं।

Q. गिरफ्तारी की जरूरत क्यों,

A. इंटेरोगेशन कंप्लीट नहीं होने दे रहीं

मीणा के वकील की दलील थी, कि वह पूछताछ के लिए उपस्थित हो जाएंगी, कस्टोडियल इंटेरोगेशन की जरूरत नहीं है, एसीबी अनावश्यक दबाव बनाएगी। एसीबी के एएजी का कहना है कि मीणा दोपहर बाद दो-तीन घंटे के लिए एसीबी के पास आती थीं, सवालों को टाल देती थीं और कहती थीं कि पति बताएंगे। तब तक सूर्यास्त हो जाता था तो पूछताछ बंद हो जाती थी। इस तरह क्राॅस सवाल नहीं हो पाते थे और दूसरे दिन वह सवालों का जवाब तैयार कर ले अाती थीं। लगातार इंटेरोगेशन नहीं होने के कारण यह पता नहीं चल पाया, कि गबन की राशि कहां खपाई है।

Q. इंटेरोगेशन में क्या चाहिए

A. प्रॉपर्टी के इनकम सोर्स पता लगाना है

एसीबी ने 8 मार्च को मीणा के जयपुर व जोधपुर के तीन ठिकानों पर छापे मार कर तलाशी ली थी। उसमें करीब दस करोड़ की प्रॉपर्टी के कागजात मिले थे, जबकि मीणा ने अपने आईपीआर में सिर्फ चार प्रॉपर्टी दिखा रखी थी, उनमें भी एक प्रॉपर्टी के कागजात एसीबी के हाथ नहीं लगे। एसीबी का मानना है कि मीणा ने प्रॉपर्टी के कागजात कहीं और भी छुपा रखे हैं। यह सभी प्रॉपर्टी मीणा ने पिछले दस साल में खरीदी है, एसीबी प्रॉपर्टी खरीद के लिए पैसों का सोर्स पूछना चाहती है।

Q. गायब होने से क्या हुआ

A. तीन लॉकर नहीं खोल पाई एसीबी

मीणा और उनके पति 2-3 दिन से गायब हैं। एसीबी ने बुधवार को सरकारी आवास पर दुबारा नोटिस चस्पां किया है। पिछले दो दिन से उन्हें नोटिस देकर बुलाया हुआ था, लेकिन वह नहीं आईं। इस कारण उनके तीन बैंक लॉकर भी नहीं खुल पाए हैं। संदेह है कि लॉकर में और भी प्रॉपर्टी के कागजात हो सकते हैं। गायब होने का दूसरा कारण यह भी है कि वह हाईकोर्ट से जमानत खारिज होने पर तुरंत गिरफ्तारी से भी बचना चाहती हैं।

Suspended IAS Nirmala Meena gets bail in jail Decide today
X
Suspended IAS Nirmala Meena gets bail in jail Decide today
Suspended IAS Nirmala Meena gets bail in jail Decide today
Click to listen..