Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» Three Armies Personnel Stop Getting Free Electricity After 7th Pay Scale

7वें वेतनमान के बाद तीनों सेनाओं के कार्मिकों को फ्री बिजली मिलना बंद

सातवां वेतनमान लागू होने की तिथि, यानी 6 जुलाई 2017 से बिजली की खपत के अनुसार प्रति यूनिट राशि वसूली जाएगी।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 23, 2018, 06:41 AM IST

  • 7वें वेतनमान के बाद तीनों सेनाओं के कार्मिकों को फ्री बिजली मिलना बंद
    +1और स्लाइड देखें

    जोधपुर. सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के आधार पर तीनों सशस्त्र सेनाओं के 14.50 लाख से ज्यादा कार्मिकों में गुस्सा है। कारण उनकी सुविधाओं में जमकर कटौती की गई है। हाल में जारी एक आदेश के अनुसार अफसरों सहित सैन्य कर्मियों के लिए प्रथम 100 यूनिट बिजली फ्री में देना बंद कर दिया गया है। वहीं शांतिकाल जैसे इलाकों में तैनात रहने वाले अफसरों काे फ्री में राशन भी नहीं मिलेगा।

    - जम्मू-कश्मीर, पूर्वोत्तर या युद्ध जैसे हालात वाले इलाकों में तैनात रहने वाले अफसरों को ही मुफ्त राशन की सुविधा दी जाएगी। जवानों के लिए यह सुविधा सभी जगह लागू रहेगी।

    - तीनों सेनाओं के देश भर में स्थित सैन्य क्षेत्रों के स्टेशन कमांडर की ओर से बिजली का शुल्क वसूलने का आदेश जारी किया गया है।

    - इसके तहत थल सेना के 12.37 लाख, वायुसेना के 1.50 लाख और नौसेना के 67 हजार अफसरों व कार्मिकों को घर में प्रथम सौ यूनिट बिजली निशुल्क देने की सुविधा बंद कर दी गई है।

    - सातवां वेतनमान लागू होने की तिथि, यानी 6 जुलाई 2017 से बिजली की खपत के अनुसार प्रति यूनिट राशि वसूली जाएगी।

    - इसके लिए एमईएस का लेखा विभाग घरों में लगे मीटर की रीडिंग ले रहा है और इसकी गणना कर सीधे ही सैलरी बनाने वाले अकाउंट विभाग को भेज रहा है। वहीं से सीधे सैलरी में से बिजली उपभोग का पैसा काटा जा रहा है।


    दोहरी दुविधा में पीस टाइम ऑफिसर्स
    - रक्षा मंत्रालय किसी भी एरिया को शांतिकाल और युद्ध के हालात जैसे क्षेत्र के रूप में नोटिफाइड करता है। इसके अनुसार ही सैन्य बलों के कार्मिकों को सुविधाएं दी जा रही हैं। जैसे जम्मू-कश्मीर, पूर्वोत्तर, चीन से लगती सीमा को फील्ड पोस्टिंग माना गया है। वहीं जयपुर, जोधपुर या दिल्ली जैसे इलाके शांतिकाल वाले इलाकों में शामिल हैं।

    - सातवें वेतनमान की सिफारिश लागू होने के बाद पीस टाइम ऑफिसर्स दोहरी दुविधा में हैं। जैसे किसी इलाके में आपदा हो गई और वहां रेस्क्यू के लिए टुकड़ी को भेजा गया है, ऐसे में जवान तो अपने राशन से काम चला लेंगे, लेकिन उसे लीड करने वाले अफसर को यह सुविधा स्वयं के स्तर पर जुटानी पड़ेगी।

  • 7वें वेतनमान के बाद तीनों सेनाओं के कार्मिकों को फ्री बिजली मिलना बंद
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jodhpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Three Armies Personnel Stop Getting Free Electricity After 7th Pay Scale
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×