Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» 24 कुंडीय गायत्री महायज्ञ कार्यक्रम संपन्न

24 कुंडीय गायत्री महायज्ञ कार्यक्रम संपन्न

अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वावधान में बालेसर पंचायत समिति के पास चल रहे यज्ञ का रविवार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:10 AM IST

24 कुंडीय गायत्री महायज्ञ कार्यक्रम संपन्न
अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वावधान में बालेसर पंचायत समिति के पास चल रहे यज्ञ का रविवार को समापन हुआ। कार्यक्रम के अंतिम दिन ग्रामीणों ने 24 कुंडीय गायत्री महायज्ञ में आहुतियां दी। रविवार को अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वावधान व वेद मूर्ति तपोनिष्ठ युग ऋषि पंडित श्रीराम शर्मा माता भगवती देवी के सक्षम साक्ष्य देव संस्कृति पुष्टिकरण 24 कुंडीय गायत्री महायज्ञ के समापन के दिन यज्ञ शाला में आकाश, पृथ्वी, वायु, अग्नि, वरुण आदि तत्वों की विशेष पूजा-अर्चना की गई। वहीं शनिवार रात्रि दीपमाला का कार्यक्रम आयोजित किया। गायत्री महायज्ञ कर पूर्णआरती व शक्ति कलश स्थापना की गई। इसमें आसपास के गांवों से आए सैकड़ों जोड़ों ने आहुतियां दी। वहीं प्रमोद बारेचा ने गुरु के बारे में ज्ञान दिया व उनके महत्व के बारे में बताया कि गुरु दानी व तपस्वी होता है। कार्यक्रम में हरिद्वार से आए गजानंद, विजेंद्र बिड़ला, प्रमोद बारेचा , दीपक कुमार, जगदीश शर्मा, नेगी बहन, अनीता सोनी, रेखा, सरला जांगिड़ आदि मौजूद थे। इस दौरान समन्वयक कैलाशचंद धतुरा, संयोजक कैप्टन देवीसिंह इंदा, पूर्व सरपंच रेवंतराम सांखला, लिखमाराम सोलंकी, रामसिंह राठौड़, कैप्टन अमरसिंह इंदा, नारायणराम सांखला, जीवराज गहलोत, भवानीसिंह इंदा, नारायणसिंह, दलपतसिंह नाथड़ाऊ, माणकलाल खत्री, दिनेश राणेजा, पवन सोनी, जोधपुर महिला मंडल के जगदीश शर्मा, हरिसिंह इंदा, सुरेंद्रसिंह, पुखराज शर्मा, मनीष शर्मा सहित जैसलमेर, बाड़मेर, जोधपुर, बिलाड़ा से कार्यकर्ता सेवा में जुटे रहे।

बालेसर. अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वावधान में गायत्री महायज्ञ की पूर्णआरती हुई। इस दौरान शक्ति कलश स्थापना की गई और हवन करते हुए जोड़े।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×