Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» जीवन में सफलता के लिए धैर्य, साहस और संतुलन जरूरी : डॉ. पदमचंद्र

जीवन में सफलता के लिए धैर्य, साहस और संतुलन जरूरी : डॉ. पदमचंद्र

जोधपुर | जैन संत डॉ. पदमचंद्र मुनि ने कहा, कि जीवन में सफलता के लिए धैर्य, साहस और संतुलन जरूरी है। इन तीनों के समन्वय...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:55 AM IST

जोधपुर | जैन संत डॉ. पदमचंद्र मुनि ने कहा, कि जीवन में सफलता के लिए धैर्य, साहस और संतुलन जरूरी है। इन तीनों के समन्वय से ही हर बाधा दूर हो सकती है। वे रविवार को लक्ष्मीनगर में धर्मसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने भगवान राम का उदाहरण देते हुए कहा, कि उनके जीवन में कठिनाइयां कम नहीं थीं। उन्हें वनवास मिला। सीता का अपहरण हो गया। मगर उन्होंने धैर्य नहीं खोया। उन्होंने भालुओं और बंदरों को मित्र बनाया और कड़ी से कड़ी जुड़ती गई। अपने धैर्य, साहस और संतुलन से रावण का वध किया और सीता को छुड़ाया।

लक्ष्मीनगर में आयोजित धर्मसभा में बड़ी संख्या में महिलाएं उमड़ीं।

जीवन में क्षमा भाव जरूरी : उन्होंने कहा, कि जीवन में क्षमा भाव जरूरी है। देह तो एक दिन निर्जीव होनी है। जीवन में कभी भी अहंकार न करें। जहां भी विनम्रता की आवश्यकता हो वहां विनम्र रहें और सबसे बड़ी बात क्षमा भाव जरूरी है। क्षमा भाव से सारी समस्याओं का हल हो सकता है। उन्होंने कहा, कि क्षमा भाव से आंतरिक उपलब्धियों और ऊर्जा का अकूत भंडार हो सकता है। क्षमा वह र|ाकर है, जिसमें र|ों का खजाना छिपा है। संत सोमवार को सुबह लक्ष्मीनगर से विहार कर महावीर भवन दाधीच नगर पहुंचेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×