Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» जैतारण में उपद्रव के मामले में 24 हिरासत में, आज भी कर्फ्यू रहेगा

जैतारण में उपद्रव के मामले में 24 हिरासत में, आज भी कर्फ्यू रहेगा

जिले के जैतारण कस्बे में शनिवार को धार्मिक जुलूस के दौरान भड़के उपद्रव के बाद रविवार को माहौल शांत रहा। हालांकि...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:00 AM IST

जैतारण में उपद्रव के मामले में 24 हिरासत में, आज भी कर्फ्यू रहेगा
जिले के जैतारण कस्बे में शनिवार को धार्मिक जुलूस के दौरान भड़के उपद्रव के बाद रविवार को माहौल शांत रहा। हालांकि उपद्रवियों द्वारा फूंकी गई दुकानों समेत अन्य प्रतिष्ठानों से रविवार दोपहर तक धुआं उठता रहा। कर्फ्यू में ढील नहीं देने के कारण शहरवासी घरों में ही दुबके रहे। इधर, दिनभर दूध तथा सब्जी की सप्लाई नहीं होने से उनको काफी परेशानी भी झेलनी पड़ी। शहर के मुख्य मार्गों को बंद करने से बसें समेत अन्य वाहन शहर में नहीं आ पाए। पुलिस ने उपद्रव फैलाने के मामले में रविवार तड़के से ही दबिश देकर कुल 24 लोगों को हिरासत में लिया है। साथ ही दिन में संवेदनशील स्थानों पर मकानों की छतों पर पत्थर तथा अन्य आपत्तिजनक सामग्री होने के अंदेशे में ड्रोन उड़ाकर तलाशी अभियान भी चलाया गया। शनिवार को हनुमान जयंती के अवसर पर निकाले गए शोभायात्रा पर पथराव के बाद दो पक्षों में हुए संघर्ष के बाद शहर थम सा गया है।

संवेदनशील स्थानों पर ड्रोन से मकानों की छतों की ली तलाशी, 24 हिरासत में

संवेदनशील स्थानों पर मकानों की छतों पर पत्थर समेत अन्य आपत्तिजनक सामग्री होने के अंदेशे के चलते पुलिस ने रविवार को ड्रोन की मदद से प्रत्येक मकान की छतों की तलाशी ली। साथ ही उपद्रव फैलाने के मामले में 24 लोगों को हिरासत में लिया गया है। आईजी हवासिंह घुमरिया, कलेक्टर सुधीर कुमार शर्मा, एसपी दीपक कुमार भार्गव जैतारण में ही डेरा डाले हुए हैं। आरएसी की 7 तथा एसटीएफ की 1 कंपनी समेत जिले भर से भारी जाब्ता चप्पे-चप्पे पर तैनात किया गया है। जोधपुर रोड, फौजी चौराहा, झुंझड़ा चौराहा, नोबल स्कूल चौराहा सहित कई अन्य मार्गों को बंद कर देने से जैतारण में आने वाले लोगों को 2 किमी का सफर पैदल ही तय करना पड़ा।

दवाइयों की दुकानें भी नहीं खुलने दी, मरीज हुए परेशान : घटना का प्रभाव मेडिकल सेवा पर भी देखा गया। सभी दवाइयों की दुकानें भी बंद रहने से मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ा। शहर के राजकीय अस्पताल में प्रतिदिन 700 से 1000 मरीजों की ओपीडी रहती है, रविवार को यहां मात्र 10 से 15 मरीज ही इलाज करवाने आए। अस्पताल में प्रसव कराने आई दो प्रसूताओं व उनके परिजनों को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।

मीडिया को कवरेज से रोका : शोभायात्रा के दौरान उपजे तनाव के बाद प्रशासन द्वारा धारा 144 व कर्फ्यू के दौरान घटना को लेकर मीडिया को भी कवरेज करने से रोका गया। प्रशासन ने अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए मीडिया को कवरेज नहीं करने दिया, जो भी मीडियाकर्मी कवरेज करता दिखा उनको प्रशासन द्वारा रोक दिया गया।

उपद्रवियों की पहचान की जा रही है

अब माहौल में शांति है। एहतियात के तौर पर पुलिस लगातार निगरानी रखे हुए हैं। अब तक 24 जनों को हिरासत में लिया गया है। घटना के दौरान वीडियो रिकार्डिंग व फोटोग्राफी के आधार पर उपद्रवियों की पहचान की जा रही है। फिलहाल कर्फ्यू में ढील देने का विचार नहीं हैं। - दीपक कुमार भार्गव, एसपी, पाली

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×