• Home
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • भदवासिया फल-सब्जी मंडी: बिजली व्यवस्था पर डेढ़ करोड़ खर्च होंगे
--Advertisement--

भदवासिया फल-सब्जी मंडी: बिजली व्यवस्था पर डेढ़ करोड़ खर्च होंगे

मूलभूत सुविधाओं का कार्य जारी, दुकानें बनने में अभी छह माह से ज्यादा समय लगेगा इन्फ्रा रिपोर्टर. जोधपुर|...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 04:30 AM IST
मूलभूत सुविधाओं का कार्य जारी, दुकानें बनने में अभी छह माह से ज्यादा समय लगेगा

इन्फ्रा रिपोर्टर. जोधपुर| राजस्थान राज्य कृषि विपणन बोर्ड की अोर से नई प्रस्तावित भदवासिया फल-सब्जी मंडी में सार्वजनिक बिजली व्यवस्था के लिए डेढ़ करोड़ रुपए का टेंडर जारी किया गया है। हाईकोर्ट के निर्देशों के बाद मंडी प्रागंण में मंडी प्रशासन की ओर से मूलभूत सुविधाओं के लिहाज से करवाए जा रहे कार्य प्रगति पर हैं, जबकि दुकानें बनने में छह माह से ज्यादा समय लगने की संभावना है। भदवासिया मंडी के निर्माण के लिए 41 बीघा जमीन मिली हुई है। इसमें अभी सीसी रोड का निर्माण करवाया गया है, जबकि कुछ हिस्से में सीवरेज और पानी की पाइप लाइनों के काम चल रहे हैं। वाहनों के पार्किंग स्थल का निर्माण भी जारी है। सार्वजनिक बिजली व्यवस्था को लेकर अभी टेंडर मांगे गए हैं, इसका वर्क आॅर्डर अप्रैल माह तक दिए जाने के बाद कार्य शुरू होगा। इसके बाद इस कार्य में अनुमानित दो माह का समय लग जाएगा।

अंडरग्राउंड केबल की बजाय पोल लगाकर करेंगे बिजली की व्यवस्था

कृषि मंडी के एक्सईन महेंद्र बाेरावड़ ने बताया कि मंडी परिसर में भूजल की समस्या का अंदेशा है। ऐसे में यहां भूमिगत केबल की बजाय बिजली पोल लगाकर ही सार्वजनिक रोशनी का प्रबंध किया जाएगा।

कुल 720 दुकानों की योजना, अभी तक 100 का निर्माण : भदवासिया मंडी प्रागंण में होलसेल की 225, रिटेल की 172 और अन्य श्रेणी की 323, यानी कुल 720 दुकानों का निर्माण करवाया जाना है, लेकिन मूलभूत सुविधाएं अभी पूरी नहीं होने और बजरी का संकट होने के कारण मात्र 100 व्यापारियों ने ही दुकानें बनाई हैं, इनमें भी कई आधी-अधूरी हैं। इस संबंध में फल-सब्जी मंडी बोर्ड के पूर्व उपाध्यक्ष गोपाल सोलंकी ने बताया कि मंडी प्रागंण में सभी सुविधाएं सुनिश्चित किए जाने के बाद ही व्यापारी दुकानों का निर्माण सुविधा अनुसार शुरू कर पाएंगे।