• Home
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • कोर्ट के निर्देशों की पालना नहीं करने पर रजिस्ट्रार के सर्विस रिकॉर्ड में होगी रेड एंट्री
--Advertisement--

कोर्ट के निर्देशों की पालना नहीं करने पर रजिस्ट्रार के सर्विस रिकॉर्ड में होगी रेड एंट्री

राजस्थान हाईकोर्ट के न्यायाधीश गोपालकृष्ण व्यास व विनीत कुमार माथुर की खंडपीठ ने निर्देश के बावजूद जयनारायण...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 05:30 AM IST
राजस्थान हाईकोर्ट के न्यायाधीश गोपालकृष्ण व्यास व विनीत कुमार माथुर की खंडपीठ ने निर्देश के बावजूद जयनारायण व्यास यूनिवर्सिटी की लॉ फैकल्टी में सुविधाओं के संबंध में पालना नहीं करने पर नाराजगी जताई। साथ ही हिदायत दी, कि यदि अगली सुनवाई तक पालना नहीं की गई तो विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार पीके शर्मा के सर्विस रिकॉर्ड में रेड एंट्री की जाएगी।

फाइव ईयर लॉ स्टूडेंट्स वेलफेयर कमेटी की ओर से दायर जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान गत 18 जनवरी को कोर्ट ने 4 अगस्त व 29 अगस्त 2017 को दिए गए निर्देशों की पालना करने को कहा था। हालांकि विश्वविद्यालय की ओर से पालना रिपोर्ट पेश की गई, लेकिन कोर्ट का कहना है कि यह सत्य नहीं है। साथ ही निर्देशों की पूरी तरह पालना नहीं की गई है। कोर्ट ने कहा, कि रजिस्ट्रार निर्देशों को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। कोर्ट ने इस मामले में अगली सुनवाई 20 मार्च को मुकर्रर की है। साथ ही इस तिथि तक 4 व 29 अगस्त 2017 को दिए गए निर्देशों की पालना नहीं करने पर रजिस्ट्रार शर्मा के सर्विस रिकॉर्ड में रेड एंट्री करने को कहा है। कमेटी की ओर से छात्र सौरभ थानवी, जेएनवीयू की ओर से अधिवक्ता अशोक छंगाणी व सरकार की ओर से एएजी एसएस लदरेचा ने पैरवी की।