• Home
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • जेएनवीयू: एमपीईटी अब एसीबी की जांच के घेरे में
--Advertisement--

जेएनवीयू: एमपीईटी अब एसीबी की जांच के घेरे में

कुलसचिव को पत्र भेज मांगा जवाब एजुकेशन रिपोर्टर | जोधपुर जेएनवीयू की ओर से आयोजित एमफिल, पीएचडी एंट्रेंस...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 05:30 AM IST
कुलसचिव को पत्र भेज मांगा जवाब

एजुकेशन रिपोर्टर | जोधपुर

जेएनवीयू की ओर से आयोजित एमफिल, पीएचडी एंट्रेंस टेस्ट में अनियमितताओं को लेकर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने जेएनवीयू से जवाब मांगा है। मंगलवार को एमपीईटी की आंसर की जारी करने के बाद एसीबी ने कुलसचिव प्रो. पीके शर्मा काे पत्र भेज विभिन्न बिंदुओं पर जवाब देने को कहा है। इस संबंध में कुलसचिव ने एसीबी अधिकारियों से बात करने के बाद उन्हें जल्द जवाब देने की बात कही।

गौरतलब है, कि चार महीने पहले जेएनवीयू की ओर से एमपीईटी का आयोजन किया गया था। परीक्षा को लेकर कई आरोप लगे थे। इसके बाद कुलपति ने जांच कमेटी गठित कर परीक्षा आयोजन से लेकर अंत तक की प्रक्रिया की जांच के निर्देश दिए। इस कमेटी ने जांच पूरी कर सोमवार को कुलपति को रिपोर्ट दे दी थी। इसके बाद प्रो. सिंह ने एक नई कमेटी गठित की जो जल्द ही जांच पूरी कर रिपोर्ट देगी। इसके अलावा एक एजेंसी नियुक्त की गई है, जो परिणाम जांचने की कार्रवाई करेगी, इसके बाद ही परिणाम घोषित किए जाएंगे। इस कमेटी में एमपीईटी के पूर्व को-ऑर्डिनेटर प्रो. अवधेश शर्मा, प्रो. एस सुंदर मूर्ति व प्रो. किशोरी लाल रैगर शामिल हैं।

इन सवालों के मांगे तत्काल जवाब

एमपीईटी वर्ष 2017 में हुई अनियमितता के संबंध में कराई जांच रिपोर्ट की प्रमाणित कॉपी।

परीक्षा के दौरान ओएमआर सीट का प्रयोग किया गया, उसकी जांच कंप्यूटर से हुई या नहीं।

यदि जांच भौतिक रूप से हुई तो इसका कारण बताया जाए।

परीक्षा में हुई अनियमितता से अवगत करवाएं।