• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • बजरी पर रोक के बाद एयरपोर्ट एप्रिन का काम छह माह लेट, नई फ्लाइट्स भी देरी से मिलेंगी
--Advertisement--

बजरी पर रोक के बाद एयरपोर्ट एप्रिन का काम छह माह लेट, नई फ्लाइट्स भी देरी से मिलेंगी

जोधपुर सिविल एयरपोर्ट का विस्तार काम बजरी की सप्लाई बंद होने के कारण अटक गया है। गत 16 नवबंर को बजरी के खनन पर रोक...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 07:10 AM IST
बजरी पर रोक के बाद एयरपोर्ट एप्रिन का काम छह माह लेट, नई फ्लाइट्स भी देरी से मिलेंगी
जोधपुर सिविल एयरपोर्ट का विस्तार काम बजरी की सप्लाई बंद होने के कारण अटक गया है। गत 16 नवबंर को बजरी के खनन पर रोक लगने के बाद से 4 नए एप्रिन, यानी विमानों की पार्किंग बनाने मुख्य काम रुक गया है। अब तक सिर्फ एप्रिन बनाने के लिए पांच फीट खुदाई व बेस बनाने का काम ही पूरा हो पाया है, जबकि सीमेंट का एप्रिन बनाने के लिए बजरी की जरूरत है। ऐसे में एयरपोर्ट विस्तार के पहले चरण का काम छह माह तक लेट होने की संभावना है। इसका असर यह होगा कि गर्मी की सीजन में जोधपुर को नई फ्लाइट्स नहीं मिलेंगी। अब अक्टूबर के पहले सप्ताह में टूरिस्ट सीजन शुरू होने के बाद ही नई फ्लाइट्स मिल पाएंगी। गौरतलब है कि सरकारी संस्थानों को बजरी के लिए केंद्र सरकार से विशेष अनुमति का लंबे समय से इंतजार करना पड़ रहा है। जोधपुर एयरपोर्ट निदेशक जीके खरे का कहना है कि बजरी नहीं मिलने के कारण एयरपोर्ट विस्तार का काम प्रभावित हो रहा है। पहले चरण का काम छह माह से ज्यादा लेट होने की संभावना है।

बीते ढाई माह से बजरी नहीं मिलने से एप्रिन बनाने का अटका, केंद्र सरकार से विशेष अनुमति का इंतजार

टैक्सी-वे का आधा काम ही हुआ : विस्तार के लिए 16 अक्टूबर को एयरफोर्स की जमीन पर 800 मी. लंबे टैक्सी-वे का काम शुरू हुआ था। यह काम आधा ही हो पाया है। इसके दिसंबर में पूरा होने की उम्मीद थी, लेकिन अब बजरी नहीं मिलने से यह काम भी लेट होगा।






इसलिए जरूरी एप्रिन का काम

X
बजरी पर रोक के बाद एयरपोर्ट एप्रिन का काम छह माह लेट, नई फ्लाइट्स भी देरी से मिलेंगी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..