Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» उम्मेद क्लब: लगातार 2 बार जीतने वाले चुनाव नहीं लड़ पाएंगे

उम्मेद क्लब: लगातार 2 बार जीतने वाले चुनाव नहीं लड़ पाएंगे

उम्मेद क्लब के चुनाव में अब लगातार दो बार जीत दर्ज करने वाले व्यक्ति को एक साल का ब्रेक लेना पड़ेगा। इस संशोधन को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 01:10 PM IST

उम्मेद क्लब के चुनाव में अब लगातार दो बार जीत दर्ज करने वाले व्यक्ति को एक साल का ब्रेक लेना पड़ेगा। इस संशोधन को चुनौती देने वाले दावे को महानगर मजिस्ट्रेट संख्या आठ ने अदम हाजिरी व अदम पैरवी के आधार पर खारिज कर दिया है। दरअसल, करीब चार साल पूर्व उम्मेद क्लब की एजीएम की बैठक में यह निर्णय किया गया था। इस संशोधन को एजीएम ने मंजूरी दे दी थी और सहकारी विभाग से भी अनुमोदन करा दिया गया था। मार्च 2016 में हुए चुनाव में यह नियम लागू होना था, लेकिन इस संशोधन को परिवादी आनंदसिंह मेवाड़ा, जयंत मुरजानी व दलपत डागा ने कोर्ट में चुनौती दी। कोर्ट ने उन्हें अंतरिम राहत देते हुए संशोधन पर रोक लगा दी और पुराने नियम से ही चुनाव कराने के लिए कहा गया। मार्च 2016 में हुए चुनाव पुराने नियम से ही हुए।

इस बीच प्रेम जैन ने भी इस मामले में पक्षकार बनने का प्रार्थना पत्र पेश किया और नए नियम से चुनाव कराने का आग्रह किया, लेकिन कोर्ट ने नहीं माना। चुनाव तो पुराने नियम से हो गए, लेकिन संशोधन को चुनौती देने वाले परिवादियों ने अगली सुनवाइयों पर न तो जवाब पेश किया और न ही पेश हुए। इस पर कोर्ट ने गत 20 जनवरी को दिए फैसले में अदम हाजिरी व अदम पैरवी के आधार पर दावा खारिज कर दिया। कोर्ट ने यह भी कहा कि परिवादियों ने गैर हाजिरी का कोई माकूल कारण भी नहीं बताया है। कई बार आवाज लगाने के बावजूद कोई पेश नहीं हुआ। दावा खारिज होने पर अब अगले चुनाव नियमों में संशोधन के अनुसार ही होंगे, यानी दाे बार लगातार चुनाव जीतने वाले अगला चुनाव नहीं लड़ पाएंगे।

वर्तमान कार्यकारिणी में ये दूसरी या ज्यादा बार जीतकर आए

उपाध्यक्ष जयंत मुरजानी, दो से ज्यादा बार।

सचिव विनोद सिंघवी, दूसरी बार।

कार्यकारिणी सदस्य दीपक भाटी, भवानी भूत, डॉ. अनिल मित्तल, आनंद मेवाड़ा, गौरव भंडारी, अरविंद कच्छवाहा व रमेश गांधी, सभी दूसरी बार।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×