• Home
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • शब्दवाणी में ही है पूरी भागवत कथा का सार : रघुवर दयाल
--Advertisement--

शब्दवाणी में ही है पूरी भागवत कथा का सार : रघुवर दयाल

लोहावट आंचलिक | मूलराज गांव स्थित बालाजी मंदिर पर चल रही कथा में बुधवार को श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। कथावाचन करते...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 01:55 PM IST
लोहावट आंचलिक | मूलराज गांव स्थित बालाजी मंदिर पर चल रही कथा में बुधवार को श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। कथावाचन करते हुए आचार्य रघुवरदयाल ने कहा कि जंभेश्वर भगवान के 120 शब्दों की जो शब्दवाणी है वो भागवत गीता का ही संक्षिप्त स्वरूप है। पूरी भागवत का सार शब्दवाणी में आ जाता है। जीवन की शुरुआत से लेकर मृत्यु की अंतिम क्रिया तक अगर व्यक्ति 29 नियमों की आचार संहिता पर चले तो उसका मोक्ष निश्चित है। जिस घर में 29 नियम का पालन होता है, उसमें राग, द्वेष, क्लेश व निर्धनता कभी नहीं आती। मूलराज निवासी भामाशाह रविंद्र खीचड़ ने मंदिर में श्रद्धालुओं के लिए एक ठंडे पानी की मशीन भी भेंट की। इस दौरान किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष जगदीश ढाका, बोगाराम सबलाणी, जन जागृति व लोक कल्याण संस्थान अध्यक्ष दाणूराम धिराणी, कांग्रेस पर्यावरण प्रकोष्ठ जिला सचिव सुरेश दौलाणी, भाजपा युवा मोर्चा मंत्री हितेश खीचड़, उदाराम ढाका, अशोक लाभुवाणी व फरसाराम सहित कई लोग मौजूद थे।