Hindi News »Rajasthan News »Jodhpur News »News» Driver Conductor Saved Bus Passengers Life

बस में लगी आग, महिला और बेटी को बचाने की कोशिश एेसे हुई नाकामयाब

Bhaskar News | Last Modified - Nov 14, 2017, 01:01 AM IST

जयपुर से बाड़मेर आ रही रोडवेज बस में आग लगने के बाद ड्राइवर-कंडक्टर ने हिम्मत दिखाते हुए 15 में से 13 यात्री को बचाया।
  • बस में लगी आग, महिला और बेटी को बचाने की कोशिश एेसे हुई नाकामयाब
    +10और स्लाइड देखें
    कंडक्टर ने जान पर खेल बचाई पैसेंजर्स की जान।
    बाड़मेर/ बालोतरा.जयपुर से बाड़मेर आ रही रोडवेज की चलती बस में आग लगने के बाद ड्राइवर-कंडक्टर ने हिम्मत दिखाते हुए बस में से एक-एक यात्री को खींचकर बाहर निकाला। बता दें इस हादसे में बस में सीटों पर सोए 15 में से 13 पैसेंजर्स का बचा लिया गया, लेकिन मां-बेटी की जिंदा जलने से मौत हो गई। आग से बस में धुआं भर गया जिससे दोनों बेहोश हो गईं और निकल नहीं पाईं। देखते ही देखते दोनों जिंदा जल गईं। ड्राइवर-कंडक्टर ने एक-एक यात्री को खींचकर बाहर निकाला...
    -बस के कंडक्टर जसवंत कुमार ने बताया कि जयपुर से बाड़मेर के बीच चलने वाली रोडवेज की स्लीपर बस शनिवार शाम 7 बजे जयपुर से रवाना हुई थी। बालोतरा में सुबह 4.30 बजे स्टॉपेज था, इसके बाद बस रवाना होकर 7 किमी. दूर खेड़ पहुंची थी। सुबह के करीब 5 बजे थे। बस के पिछले हिस्से से धुंआ उठते हुए बस को तुरंत रुकवाया।
    -बस में कुल 15 सवारियां ही थी, अधिकांश यात्री स्लीपर में ऊपर साे रहे थे। सर्दी का मौसम होने से शीशे बंद थे, बस में धुएं से घुटन होने लगी। इसके बावजूद बस में शीशे खोल कर एक-एक यात्री को स्लीपर से खींच-खींच कर बाहर निकाला।
    -धुंआ इतना था कि बस में 2 मिनट से ज्यादा रुक नहीं पा रहा था। सवारी को नीचे उतार सांस लेकर 4-5 बार बस में चढ़कर सवारियों को सुरक्षित निकाला। पीछे के स्लीपर में एक महिला और एक मासूम सो रही थी, धुएं से बेहोश हो गई। हालांकि, इनके साथ सो रही महिला की भतीजी को बचा लिया।
    -मां-बेटी को बचाने के लिए खूब प्रयास किए, लेकिन इस बीच आग तेज हो गई। मेरा हाथ भी जल गया, बाल भी जल गए। आग और धुएं में कूद महिला को बचाने का प्रयास किया, महिला के कपड़े हाथ में आ गए थे, लेकिन स्लीपर से महिला को बाहर नहीं निकाल का।
    -इस बीच धुएं से मैं खुद भी बेहोश हो गया। पीछे से आ रहे एक ट्रक का चालक शॉल ओढ़कर बस में घुसा और मुझे घसीट कर बाहर निकाला, बाहर आने के बाद होश आया। बस का मुख्य गेट आगे था, ऐसे में पीछे के हिस्से तक पहुंचना और बाहर निकाल पाना मुश्किल रहा।
    कारण : सिगरेट से धधकी आग दो जिंदगियां लील गई
    रोडवेज की स्लीपर कोच बस में दो युवक सवार थे। रवानगी के बाद उन्हाेंने कई बार सिगरेट जलाई। अजमेर में बस के रुकने पर परिचालक ने युवकों को धुम्रपान करने से मना किया। बाद में जोधपुर में बस रुकी तो और धुम्रपान करने लगे। वे बस में भी सिगरेट जला रहे थे। सुबह करीब 4.30 बजे बालोतरा प्रथम रेलवे फाटक के समीप स्टैंड पर बस रुकी। इस दरम्यान चाय पीने के बाद कई यात्री बस में सवार हो गए। इन्हीं युवकों ने फिर से सिगरेट जलाई। संभवत: सिगरेट बुझाने के दौरान सीट में लगा फोम झुलस गया और इसके बाद आग फैल गई।
    बुआ को रुकने के लिए कहा, रुकी नहीं जिंदा जल गई
    हादसे के दौरान मृतका रेखा की भतीजी भी उनके साथ में थी, वो जिंदा बच गई। भतीजी ने बताया कि जयपुर से रवाना हुए तब आने से मना किया था, लेकिन वे नहीं माने। घर पर काम होने की बात कहकर वे बस में रवाना हो गए, अगर बात मान लेते तो शायद बुआ जिंदा बच जाती। महिला रेखा के पति अजीतसिंह बायतु कोसरिया के एक स्कूल में अध्यापक हैं।
    आगे की स्लाइड्स में देखें इस खबर से जुड़ीं फोटोज...
  • बस में लगी आग, महिला और बेटी को बचाने की कोशिश एेसे हुई नाकामयाब
    +10और स्लाइड देखें
    हादसे में जान गंवाने वाली महिला की भतीजी की जान बच गई।
  • बस में लगी आग, महिला और बेटी को बचाने की कोशिश एेसे हुई नाकामयाब
    +10और स्लाइड देखें
    मरने वाली मां-बेटी की लाश तक पहचानने लायक नहीं थीं।
  • बस में लगी आग, महिला और बेटी को बचाने की कोशिश एेसे हुई नाकामयाब
    +10और स्लाइड देखें
    हादसे के वक्त बस में सवार सभी पैसेंजर्स सो रहे थे।
  • बस में लगी आग, महिला और बेटी को बचाने की कोशिश एेसे हुई नाकामयाब
    +10और स्लाइड देखें
    हादसे में मां-बेटी जलकर राख हो गई।
  • बस में लगी आग, महिला और बेटी को बचाने की कोशिश एेसे हुई नाकामयाब
    +10और स्लाइड देखें
    पूरी तरह जलकर बर्बाद हो गई बस।
  • बस में लगी आग, महिला और बेटी को बचाने की कोशिश एेसे हुई नाकामयाब
    +10और स्लाइड देखें
    हादसे के 1 घंटे बाद तक अफरा-तफरी का माहौल रहा।
  • बस में लगी आग, महिला और बेटी को बचाने की कोशिश एेसे हुई नाकामयाब
    +10और स्लाइड देखें
    ये रोडवेज बस जयपुर से बाड़मेर आ रही थी।
  • बस में लगी आग, महिला और बेटी को बचाने की कोशिश एेसे हुई नाकामयाब
    +10और स्लाइड देखें
    हादसे के पीछे पैसेंजर्स में से किसी का सिगरेट पीना बताया जा रहा है।
  • बस में लगी आग, महिला और बेटी को बचाने की कोशिश एेसे हुई नाकामयाब
    +10और स्लाइड देखें
    धुएं में दम घुटने के बावजूद शीशे खोलकर बाहर निकले गए पैसेंजर्स।
  • बस में लगी आग, महिला और बेटी को बचाने की कोशिश एेसे हुई नाकामयाब
    +10और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jodhpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Driver Conductor Saved Bus Passengers Life
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×