Hindi News »Rajasthan News »Jodhpur News »News» Girl And Father Prevent Rail Accident

12 साल की लड़की ने पटरी टूटी देख पिता को बताया, दोनों ने ऐसे रुकवाई मालगाड़ी

Bhaskar News | Last Modified - Nov 05, 2017, 09:07 AM IST

क 12 साल की लड़की ने पटरी टूटी देख सूझबूझ से काम लेकर टाला बड़ा रेल हादासा।
  • 12 साल की लड़की ने पटरी टूटी देख पिता को बताया, दोनों ने ऐसे रुकवाई मालगाड़ी
    +1और स्लाइड देखें
    रेल की टूटी पटरी और इस हादसे को होने से बचाने वाली लड़की सुशीला।
    जोधपुर.जोधपुर मंडल के मेड़तारोड-फुलेरा खंड में शनिवार सुबह एक 12 साल की लड़की ने पटरी टूटी देखी तो तुरंत अपने पिता काे बताया। पिता ने भी समय गंवाए बिना खतरे का निशान देख वहां पहुंच रही एक मालगाड़ी को समय रहते रुकवा दिया। इधर, कुछ मिनट बाद ही इसी जगह से जोधपुर-इंदौर रणथंभौर एक्सप्रेस भी निकलने वाली थी। बाद में पटरी को दुरुस्त कर दोनों ट्रेनों को निकाला गया।
    - हुआ यूं कि खेडूली व रेन स्टेशन के बीच किलोमीटर संख्या 507 का 7 व 6 के बीच शनिवार सुबह पटरी टूटने से करीब दो इंच का गेप आ गया था। घटना स्थल से महज 100 मीटर दूर डाबरिया कलां गांव के शंकराराम की 12 साल की बेटी सुशीला शौच के लिए घर से निकली थीं।
    - वह सुबह करीब 7:25 बजे लौट रही थीं तब उसे पटरी टूटी दिखाई दी। वह तेज कदमों से अपने घर की तरफ बढ़ी ताकि पिता को बता सके। इसी दौरान उसे सामने से पिता आते दिखे। शंकराराम को जब इसका पता लगा तो पहले उसने रेलवे में गार्ड अपने बहनोई चेलाराम को मोबाइल से कॉल कर जानकारी दी।
    वहीं पड़े लाल कट्‌टे को लहराकर संकेत दिया
    - इस बीच 7:30 बजे उसे मालगाड़ी आती दिखाई दी। रेल लाइन के किनारे पड़े लाल रंग के प्लास्टिक के कट्टे को लेकर उसने खतरे का संकेत देना शुरू कर दिया। वह टूटी हुई पटरी से करीब 25 फीट की दूरी पर खड़ा था।
    - तभी लोको पायलट धीरेंद्र प्रताप व सहायक लोको कृष्ण कुमार को सामने खतरे का आभास हुआ तो उन्होंने इमरजेंसी ब्रेक लगा ट्रेन को रोका। ट्रेन रुकी लेकिन इंजन व दो बोगी कम गति से टूटी हुई पटरी से निकल गई।
    - लोको पायलट ने रेलवे कंट्रोल को सूचना दी तब की-मैन छोटेलाल पहुंचा और पटरी को दुरुस्त कर ट्रेन को धीमी गति से निकाला गया।
    - इसके कुछ देर बाद ही जोधपुर-इंदौर ट्रेन संख्या 12466 निकलने वाली थी जिसे मेड़तारोड व डेगाना के बीच डेढ़ घंटे तक रोके रखा गया। पटरी पूर्णत: सुरक्षित होने के बाद ही इस ट्रेन को आगे रवाना किया गया।
  • 12 साल की लड़की ने पटरी टूटी देख पिता को बताया, दोनों ने ऐसे रुकवाई मालगाड़ी
    +1और स्लाइड देखें
    सुशीला के पिता शंकराराम।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jodhpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Girl And Father Prevent Rail Accident
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×