अयोध्या केस / जोधपुर शहर में सुरक्षा बढ़ाई, स्कूल-कॉलेजों में अवकाश घोषित, सभी से शांति बनाए रखने की अपील



जोधपुर में रूट मार्च। जोधपुर में रूट मार्च।
X
जोधपुर में रूट मार्च।जोधपुर में रूट मार्च।

  • कमिश्नरेट एरिया में धारा 144 लागू 

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2019, 11:40 AM IST

जोधपुर. सुप्रीम कोर्ट शनिवार सुबह अयोध्या विवाद पर अपना फैसला सुनाएगा। इस फैसले के मद्देनजर जोधपुर शहर सहित पूरे संभाग में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। जोधपुर पुलिस कमिश्नरेट क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दी गई है। राज्य सरकार ने आज स्कूल- कॉलेजों में एक दिन का अवकाश घोषित कर दिया है। इंटरनेट पर रोक को लेकर फिलहाल संशय बना हुआ है।  


शहर में धारा 144 लागू
पुलिस कमिश्नर प्रफुल्ल कुमार के निर्देशन में शुक्रवार को सामाजिक सौहार्द एवं सद्भावना को ध्यान में रखते हुए कमिश्नरेट के जिला पूर्व व पश्चिम में सदर बाजार, नागौरी गेट, बोरानाडा सहित अन्य इलाकों में बैठक के साथ शांति मार्च निकाला गया। शुक्रवार रात को कमिश्नरेट एरिया में धारा 144 लागू कर दी गई। ये आदेश शुक्रवार रात 10 बजे से 15 नवंबर रात 10 बजे तक लागू रहेगा।


 कोई भी व्यक्ति घातक रासायनिक पदार्थ व विस्फोटक पदार्थ लेकर विचरण नहीं कर सकेगा। वहीं कोई भी व्यक्ति धार्मिक भावना भड़काने वाले नारे न बोलेगा और न ही लिखेगा।


 कमिश्नरेट एरिया में कोई भी व्यक्ति अस्त्र-शस्त्र, धारदार व लाठी लेकर घूमता पाया जाता है तो उस पर तुरंत कार्रवाई की जाएगी।


बढ़ाई सुरक्षा व्यवस्था
जिला प्रशासन ने कल रात से ही शहर में सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दिया है। शहर में कई स्थानों पर पुलिस बल तैनात किया गया है। इसके अलावा पुलिस अधिकारी लगातार शहर में गश्त लगा रहे है। जिला प्रशासन ने सभी लोगों से सौहार्द बनाए रखने की अपील की है। साथ ही लोगों से कहा कि वे अफवाहों पर ध्यान नहीं दे। प्रशासन ने लोगों से सोशल मीडिया पर किसी तरह के भड़काऊ मैसेज पोस्ट करने से बचने की सलाह दी है। अपील है कि ऐसे मैसेज के बहकावे में न आएं। और न ही इन मैसेज को फारवर्ड करें। शहर में शांति बनाए रखने की सबसे बड़ी जिम्मेदारी हमारी ही है। न तो किसी अफवाह पर ध्यान दें और न उसे फैलाने का जरिया बनें।


धर्मगुरुओं की अपील भावनाएं काबू में रखें, अफवाहें न फैलने दें
शहर का माहौल न बिगड़े, इसके लिए हिंदू-मुस्लिम धर्मगुरुओं ने अमन चैन कायम रखने की अपील की है। दाेनाें धर्माें के प्रमुख धर्मगुरुओं ने कहा कि फैसला जाे भी आए हमें भावनाओं पर काबू रखना है और अफवाहाें पर ध्यान देने और इन्हें फैलाने से बचना है। शहरवासियों को आपसी भाईचारा बनाए रखते हुए मिसाल कायम रखनी है। फैसला चाहे किसी के पक्ष में आए, लेकिन हमें अपना संयम नहीं खोना है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हमें पूरी तरह सम्मान करना है। अयाेध्या मामले का सुप्रीम कोर्ट जिसके भी हक में फैसला दे उसे फैसले पर किसी किस्म का कोई जश्न या कोई विरोध नहीं किया जाना चाहिए। हम सबका कर्तव्य है कि हमें देश में सुख-चैन का वातावरण बनाए रखना चाहिए।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना