जोधपुर / पहली बार जय गुरुदेव आश्रम मेंं जुटेंगे 20 हजार से अधिक श्रद्धालु, गुरु पूर्णिमा 3 दिवसीय कार्यक्रम 14 से



जय गुरुदेव आश्रम में मुख्य प्रवचन के लिए तैयार हो रहा पंडाल।  जय गुरुदेव आश्रम में मुख्य प्रवचन के लिए तैयार हो रहा पंडाल। 
X
जय गुरुदेव आश्रम में मुख्य प्रवचन के लिए तैयार हो रहा पंडाल। जय गुरुदेव आश्रम में मुख्य प्रवचन के लिए तैयार हो रहा पंडाल। 

  • रहने, खाने-पीने की तैयारियां अंतिम चरण में

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 10:22 AM IST

जोधपुर. गुरु पूर्णिमा पर शहर के निकट मंडलनाथ फांटा ओसियां रोड पर जय गुरुदेव आश्रम में सत्संग व नामदान कार्यक्रम होगा। गुरु पूर्णिमा से दो दिन पहले ही धार्मिक कार्यक्रम प्रारंभ हो जाएंगे। 


जय गुरुदेव आश्रम की ओर से पहली बार जोधपुर में गुरु पूर्णिमा पर हो रहे तीन दिवसीय कार्यक्रम में देशभर से करीब 20 हजार लोगों के जुटने की संभावना है। इसके लिए आश्रम स्थल पर बड़े पैमाने पर तैयारियां की जा रही हैं। हजारों श्रद्धालुओं के रहने, खाने-पीने व सोने की व्यवस्था आश्रम की ओर से की गई है। आश्रम स्थल पर हर राज्य से आने वाले भक्तों की संख्या के आधार पर टेंट लगाए जा रहे हैं। जोधपुर स्थित जय गुरुदेव आश्रम के कार्यक्रम संयोजक आईदान सिंह सांखला ने बताया कि तीन दिनों तक चलने वाले कार्यक्रम में भक्त आने प्रारंभ हो गए हैं।

 

यह कार्यक्रम 56 बीघा जमीन पर होगा। इसमें आश्रम की जमीन तो 6 बीघा है, लेकिन आसपास के लोगों ने धार्मिक कार्यक्रम के लिए अपनी जमीनें दी हैं। यहां दो सत्संग डोम, ठहरने के लिए अलग से टेंट, भोजनशाला, सामग्री स्थल आदि बनाए गए हैं। 


जसोल हादसे बाद प्रशासन सतर्क, परख रहे सुरक्षा इंतजाम 
जसाेल हादसे के बाद प्रशासन सतर्क नजर आया। बाबा जय गुरुदेव आश्रम के कार्यक्रम में प्रशासन ने कई तरह की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। आयोजनकर्ता से मापदंड अनुसार व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। आयोजन से पहले आश्रम प्रबंधक को कई तरह के सुरक्षा इंतजाम अपनाने के लिए पुलिस की ओर से नोटिस दिए गए हैं, ताकि किसी तरह की कोई लापरवाही न हो। मुख्य आयोजन के दौरान हैंगर से बनने वाले स्थल की सुरक्षा का जायजा भी फायरब्रिगेड के अफसर करेंगे। आयोजन की अनुमति दे दी, लेकिन एनओसी निरीक्षण के बाद शुक्रवार तक मिलेगी। इधर, कार्यक्रम स्थल पर भी आयोजनकर्ता की ओर से पूरी व्यवस्थाएं जांच परख कर ही की जा रही है। डोम को जमीन में आरसीसी से स्थाई सेटअप पर लगाया है। जहां सत्संग होना है, वहां हैंगर वाला टेंट लगाया जा रहा है। इसके अलावा बिजली के तार भी पाइप में डाल कर रखे जा रहे हैं। पार्किंग की भी विशेष व्यवस्था की है। आश्रम में प्रवेश के भी अलग-अलग गेट बनाए गए हैं। 
 

COMMENT