उपलब्धि / अब जोधपुर में हो सकेगी स्वदेशी अर्जुन टैंक की मरम्मत, रक्षा राज्य मंत्री ने पहला टैंक सेना को सौंपा



अर्जुन टैंक। अर्जुन टैंक।
X
अर्जुन टैंक।अर्जुन टैंक।

  • अब तक टैंकों को मरम्मत के लिए भेजना पड़ा था चेन्नई

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2019, 06:47 PM IST

जोधपुर. रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद नाइक ने शुक्रवार को जोधपुर मिलिट्री स्टेशन में मरम्मत के पश्चात तैयार किए गए स्वदेशी टैंक अर्जुन को सेना के सुपुर्द किया। जोधपुर स्थित कोणार्क कोर मिलिट्री स्टेशन में पहली बार स्वदेशी मैन बैटल टैंक अर्जुन की मीडियम रिसेट व रिपेयरिंग शुरू हाे गई। देश भर में जोधपुर पहला मिलिट्री स्टेशन है, जहां अर्जुन टैंक की मरम्मत की सुविधा शुरू हुई हैं। यहां टैंक की मेजर रिपेयरिंग करने के कई ट्रायल किए गए। अब इन टैंकों को मरम्मत के लिए चेन्नई स्थिति अवाड़ी अर्डिनेंस डिपो में भेजने का समय व पैसा दोनों की बचत होगी। सेना लम्बे अरसे से इसी मरम्मत यहीं पर शुरू करने पर विचार कर रही थी। 

 

रक्षा राज्य मंत्री श्रीपद वाई नाइक इसके लिए आज दोपहर में जोधपुर पहुंचे थे। एयरपोर्ट पर कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल वीएस श्रीनिवास सहित सेना के उच्चाधिकारी मौजूद थे। रक्षा राज्य मंत्री नाइक के शनिवार दोपहर बाद दिल्ली जाने का कार्यक्रम हैं। नाइक ने ऑपरेशनल तैयारियों का जायजा लिया। कोणार्क कोर के अधीन आने वाले क्षेत्रों में सेना की युद्धक तैयारियों के बारे में सेना के टॉप कमांडर्स से जानकारी ली। रक्षा राज्य मंत्री ने मौजूद हालात में सेना की तैयारियों को देखकर संतोष व्यक्त किया। साथ ही सेना के प्रशासन तथा अन्य एजेंसियों के साथ बेहतर तालमेल की जानकारी ली। सीमावर्ती क्षेत्रों में किसी भी तरह की घटना से निपटने के लिए सेना पूरी तरह से तैयार हैं।


इसलिए जोधपुर में जरूरी थी मरम्मत
टैंक वारफेयर के लिए पाकिस्तान से सटी पश्चिमी सीमा महत्वपूर्ण हैं। सामरिक दृष्टि से पंजाब से लेकर राजस्थान व गुजरात में सर्वाधिक टैंक की तैनाती रहती हैं। टी 90 और टी 70 के अलावा स्वदेशी मैन बैटल टैंक अर्जुन की तैनाती हैं। अभी सेना के पास 124 ज्यादा अर्जुन टैंक हैं। अभी तक इनके मीडियम रेस्ट व रिपेयरिंग के लिए चेन्नई अवार्डी फैक्ट्री भेजना पड़ता था। कई बार ज्यादा खराबी आने पर विशेषज्ञों को जोधपुर बुलाना पड़ता था। अब सेना ने जोधपुर में ही मीडियम रेस्ट व रिपेयरिंग की सुविधा शुरू कर दी हैं। इसके तहत टैंक बड़े पार्ट्स जैसे इंजन व अन्य उपकरण की यहीं पर मेंटेनेंस व सर्विस हो सकेगी। साथ ही बड़ी खराबी आने पर यहां टैंक को लेकर जल्दी ही वापस भेजा जा सकेगा। अर्जुन के अलावा अन्य टैंकों के लिए भी जोधपुर की ये सुविधा महत्वपूर्ण साबित होगी।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना