पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सोलर प्लांट का मीटर लगाने के बदले मांगी रिश्वत, पाली डिस्कॉम का एईएन गिरफ्तार

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
एसीबी जोधपुर की टीम ने गुरुवार सुबह पाली डिस्कॉम में मीटर लैब के सहायक अभियंता एनके बरारा को 11 हजार रुपए रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया। आरोपी एईएन ने एडवांस के तौर पर 5 हजार रुपए की रिश्वत पहले ही ले ली थी, जिसमें से 4 हजार रुपए भी एसीबी ने आरोपी के घर से बरामद कर लिए। आरोपी एईएन ने यह राशि सोलर प्लांट का मीटर लगाने के लिए मांगी थी। आरोपी को एसीबी की टीम शुक्रवार को एसीबी मामले की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। एसीबी जोधपुर के एसपी विष्णुकांत ने बताया कि पाली में रोवन इंटरप्राइजेज के संचालक राजीव अग्रवाल ने 15 मई को जोधपुर ग्रामीण एसीबी चौकी में परिवाद पेश किया कि उसने सोलर सोलर प्लांट लगाने की एजेंसी ले रखी है। वह घरों की छत पर सोलर प्लांट लगाने का काम करता है। उसने सेंट्रल एकेडमी स्कूल व राजलक्ष्मी फैब टैक्स में सोलर प्लांट का मीटर लगाने के लिए 2 फाइल डिस्कॉम पाली में मीटर लैब सहायक अभियंता नवीन कुमार बरारा के पास लगा रखी थी। परिवाद में आरोप था कि एईएन बरारा ने इन फाइलों को पास करवाने के लिए 16 हजार रुपए रिश्वत मांगी है।

पहले एसीबी के जाल से बचा, दूसरी बार पकड़ा गया

16 नवंबर को परिवादी राजीव अग्रवाल ने रिश्वत की राशि में एडवांस के तौर पर 5 हजार रुपए आरोपी एईएन बरारा को दिए, जबकि शेष 11 हजार रुपए बाद में देना तय हुआ। शिकायत के सत्यापन के बाद एसीबी जोधपुर ग्रामीण चौकी के एएसपी गोपालसिंह भाटी के नेतृत्व में टीम ने 16 नवंबर को परिवादी के साथ आरोपी एईएन को ट्रैप करने का जाल बिछाया, मगर उस दिन आरोपी एईएन परिवादी से 5 हजार रुपए लेकर तुरंत ही जैतारण चला गया। इस पर टीम को खाली हाथ लौटना पड़ा, लेकिन इसी टीम ने गुरुवार सुबह विशेष केमिकल लगा 11 हजार रुपए देकर परिवादी को पाली में आरोपी एईएन के पास भेजा। रिश्वत लेते ही आरोपी ने राशि अपनी जेब में रखी तो इशारा मिलते ही एसीबी टीम ने उसे गिरफ्तार कर रिश्वत की राशि बरामद कर ली।

घर की तलाशी में मिली नकदी, लॉकर सीज

एसीबी जोधपुर की सूचना पर पाली एसीबी चौकी के एएसपी कैलाशचंद्र जुगतावत की टीम ने डिस्कॉम के आरोपी एईएन बरारा के पुराना हाउसिंग बोर्ड स्थित मकान की तलाशी ली। तलाशी में मकान से 1 लाख 62 हजार रुपए बरामद किए। इनमें से 4 हजार रुपए की राशि वह है, जाे आरोपी एईएन ने 16 नवंबर को परिवादी से ली थी। इस राशि के नोट की पुष्टि भी हो गई है। घर से दो तोला सोने की चेन भी मिली है। एईएन के दो बैंक लॉकर की पुष्टि हुई है, इन्हें सीज कर दिया गया है। लॉकर की तलाशी शुक्रवार को ली जाएगी।

पाली. बिजली घर में कार्रवाई करते एसीबी के अधिकारी।

खबरें और भी हैं...