--Advertisement--

तीस देशों में घूम एक बार इस शहर पहुंच गई यह हिप्पी

तीस देशों में घूम एक बार इस शहर पहुंच गई यह हिप्पी

Danik Bhaskar | Feb 08, 2018, 01:58 PM IST
ये है रशेल। अमेरिका को त्याग अ ये है रशेल। अमेरिका को त्याग अ

जोधपुर। अमेरिका में जन्मी रशेल जोंस का पेशा है नई-नई जगह पर घूमना और फिर वहां की खासियत को तलाश कर लिखना। ताकि उन्हें पढ़ दूसरे लोग भी उस स्थान पर घूमने को प्रेरित हो सके। उनके साथी उन्हें हिप्पी इन हिल्स के नाम से ही पुकारते है। तीस से अधिक देश में घूम चुकी यह घुमंतू महिला एक बार फिर जोधपुर पहुंची। इस बार उन्होंने अपने नजरिए से इस ब्लू सिटी को न केवल कैमरे से दिखाया बल्कि इस शहर को लेकर अपना नजरिया भी बताया। रशेल को ऐसा लगा जोधपुर...


- दुनिया में एक अकेला जोधपुर ही ब्लू सिटी नहीं है। मोरक्को में भी एक ऐसा ही ब्लू सिटी चैफचेगॉन नाम का शहर है। लेकिन दोनों शहर एकदम अलग है। मोरक्को के इस शहर में प्रत्येक जगह ब्लू रंग से रंगी है। जबकि जोधपुर में ऐसा नहीं है. यहां प्राचीन जोधपुर में ही यह रंग देखने क मिलता है। जोधपुर के लोगों के पास ब्लू कलर को लेकर अलग-अलग सोच है। कुछ लोग कहते है कि इससे मच्छर कम आते है, वहीं कुछ लोगों का मानना है कि इससे गर्मी के दिनों में मकान ठंडे रहते है। इसके बावजूद जोधपुर में घूमने का कभी न भूलने वाला एक अलग ही अहसास होता है।
बहुत भीड़ है इस शहर में


- रशेल का कहना है कि समय के साथ जोधपुर भी तेजी से बदल रहा है, लेकिन अभी भी यहां आसानी से क्वालिटी का वेस्टर्न खाना नहीं मिलता। पुराना शहर लोगों की भीड़ से जाम रहता है। हालांकि यहां कार नहीं ले जा सकते। हालांकि यह एक रियल इंडियन सिटी का अहसास कराता है। जोधपुर आकर आपको लक्जरी की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। यहां की स्ट्रीट्स पर बेहतरीन स्थानीय भोजन का स्वाद लिया जा सकता है। सदियों पुरानी हवेलियों से फोर्ट के साथ ही सड़कों पर घूमते आवारा पशु नजर आ जाएंगे।


ऐसी है रशेल


- अमेरिकी के ओहियो शहर निवासी रशेल अब गोवा में सैटल हो चुकी है। नर्सिंग के करिअर में रहने के दौरान छह माह काम कर वह छह माह के लिए अपना ट्रेवलिंग बैग उठा घूमने निकल पड़ती। अब तक तीस देशों में घूम चुकी रशेल का कहना है कि वह दूसरी बार जोधपुर आई है। ऐसे ही दक्षिण भारत की यात्रा के दौरान एक दोस्त मिल गया। अमेरिका निवासी इस दोस्त के साथ अब वे गोवा में रहती है। नर्सिंग के जॉब को अलविदा कह अब उन्होंने ऑफ बीट ट्रेवल प्लेसेज के बारे में लिखना शुरू कर दिया है। इससे होने वाली आमदनी से अब लगातार टूर पर रहती है। सिर्फ बारिश के दिनों में अपने नए घर गोवा लौटती है। यही कारण है कि उनके फ्रेंड ने उनका नाम हिप्पी इन हिल्स रख दिया।

अगली स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो