--Advertisement--

एनएलयू जोधपुर में मिलेगी कोटा

एनएलयू जोधपुर में मिलेगी कोटा

Danik Bhaskar | Mar 06, 2018, 03:26 PM IST
जोधपुर में बुधवार को कोर्ट में जोधपुर में बुधवार को कोर्ट में

जोधपुर। एक नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीड़न के आरोप में साढ़े चार साल से जोधपुर जेल में बंद आसाराम ने बुधवार को एक बार फिर अपना मुंह खोला और बड़े बोल बोले। आसाराम ने कहा कि पॉस्को कानून का दुरुपयोग हो रहा है। पंद्रह सौ किलोमीटर दूर से एक बीमार युवती के साथ क्या छेड़छाड़ करूंगा। मुझ जैसों को भी प्रताड़ित किया जा रहा है तो सामान्य आदमी की क्या बात करे। यह बोला आसाराम…

- यौन उत्पीड़न मामले में नियमित सुनवाई के लिए बुधवार को जेल से कोर्ट लाए जाने के दौरान आज आसाराम ने कई दिन पश्चात अपनी चुप्पी तोड़ी। आसाराम को अब अपने खिलाफ लगाए गए पॉस्कों कानून में ही खामी नजर आ रही है। कोर्ट में प्रवेश करने के दौरान आसाराम ने कहा कि कानून विशेषज्ञ सुब्रमण्यम स्वामी तक कह चुके है कि यदि मेरे हाथ में होता तो वे यह कानून समाप्त कर देते।

- आसाराम ने कहा कि अस्सी साल की उम्र में एक बीमार युवती को पंद्रह सौ किलोमीटर की दूरी से बुलाकर क्या छेड़छाड़ करूंगा? पॉस्को कानून का जमकर दुरुपयोग हो रहा है। मेरे जैसे आदमी को भी प्रताड़ित किया जा रहा है तो आम आदमी का क्या होता होगा?

अंतिम चरण में पहुंची सुनवाई

- उल्लेखनीय है कि आसाराम के खिलाफ जारी मामले की सुनवाई अंतिम चरण में पहुंच चुकी है। अनुसुचित जाति जनजाति मामलात की विशेष अदालत में आसाराम व शिल्पी के अधिवक्ता ने दोनों आरोपियों की ओर से अंतिम बहस पूरी कर ली। एक अन्य आरोपी शरद की ओर से सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता सिद्धार्थ लूथरा ने अंतिम बहस पूर्व में ही पूरी कर ली गई थी।बचाव पक्ष की ओर से अंतिम बहस पूरी किए जाने के बाद अभियोजन पक्ष की ओर से अंतिम बहस की जाएंगी। विधि विशेषज्ञों की माने तो अगले एक-डेढ़ माह में यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। इसके बाद न्यायालय अपना फैसला सुनाएगी।

अगली स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो