Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» During Suspension From Cricket This Player Search For Good Horse

डोप टेस्ट में फेल होने के बाद इस क्रिकेटर को लगा घुड़सवारी का शौक

डोप टेस्ट में फेल होने के बाद लगे प्रतिबंध के दौरान क्रिकेट खिलाड़ी यूसुफ पठान ने एक करोड़ का घोड़ा खरीदा।

SUNIL CHOUDHARY | Last Modified - Jan 09, 2018, 03:58 PM IST

  • डोप टेस्ट में फेल होने के बाद इस क्रिकेटर को लगा घुड़सवारी का शौक
    +6और स्लाइड देखें
    डोप टेस्ट में फेल होने के कारण सस्पेंड किए गए यूसुफ पठान इस दौरान घोड़ा खरीदने जोधपुर आए थे।

    जोधपुर।क्रिकेटर यूसुफ पठान डोप टेस्ट में फेल हो गए हैं। बीसीसीआई ने उन्हें ५ महीने के लिए सस्पेंड किया है। डोप टेस्ट में फेल होने के बाद सस्पेंशन के दौरान यूसुफ पठान ने क्रिकेट से ध्यान हटा घुड़सवारी पर अपना ध्यान केन्द्रित किया। यहीं कारण रहा कि उन्होंने जोधपुर में अपने लिए एक करोड़ का घोड़ा पसंद किया। साथ ही अपने बेटे के लिए ग्यारह लाख में घोड़े का बच्चा खरीदा। क्रिकेट खेलने पर बैन के बाद आए थे घोड़ा खरीदने...


    - क्रिकेट खिलाड़ी यूसुफ पठान का गत वर्ष पर एक मैच के दौरान डोप टेस्ट पॉजिटिव पाया गया था। उसके पश्चात उन्हें क्रिकेट खेलने के लिए पांच माह के लिए सस्पेंड कर दिया गया था। यही कारण रहा कि वे इस दौरान स्थानीय क्रिकेट से दूर रहे। यूसुफ का बैन चौदह जनवरी को समाप्त होगा।
    - क्रिकेट खेलने से सस्पेंड होने के दौरान यूसुफ ने अपना फोकस घुड़सवारी की तरफ किया। यही कारण रहा कि गत माह के अंतिम सप्ताह में वे अपने परिवार के साथ मारवाड़ी नस्ल के बेहतरीन घोड़ों की तलाश में जोधपुर आए।
    - जोधपुर के निकट रणसी गांव में एक स्टर्ड फार्म पर उन्होंने कई घोड़ों के बीच से १.११ करोड़ का घोड़ा अपने लिए पसंद किया। बाद में मोलभाव कर उन्होंने इस घोड़े का सौदा एक करोड़ में तय किया।
    - खुद के लिए घोड़ा खरीदने के साथ उन्होंने अपने बेटे अयान के लिए ग्यारह लाख रुपए में घोड़े का एक बच्चा भी खरीदा।
    - हालांकि उनके जोधपुर आने तक डोप टेस्ट में फेल होने का खुलासा नहीं हो पाया था। अब सस्पेंशन समाप्त होने से महज पांच दिन पूर्व इसका खुलासा हुआ है।


    ऐसा होता है मारवाड़ी घोड़ा


    - मारवाड़ी नस्ल के घोड़ों का इस्तेमाल राजाओं के जमाने से युद्ध के लिए किया जाता रहा है। मारवाड़ी नस्ल के घोड़े मारवाड़(जोधपुर) रियासत में पाए जाते है। यही इनका जन्म स्थान भी माना जाता है। इन घोड़ों की लम्बाई 130 से 140 सेन्टीमीटर और ऊंचाई 160 सेन्टीमीटर तक होती है। इन घोड़ों की खासियत यह होती है कि इनके कान आपस में मिल सकते है। चौड़े फेस वाले ये घोड़े काफी ताकतवर माने जाते है। भारत में मारवाड़ी घोड़ों को सबसे बेहतरीन माना जाता है और इनकी कीमत बहुत अधिक होती है।

    अगली स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो

  • डोप टेस्ट में फेल होने के बाद इस क्रिकेटर को लगा घुड़सवारी का शौक
    +6और स्लाइड देखें
    अपने बेटे अयान के साथ इस अंदाज में जोधपुर पहुंचे थे यूसुफ पठान।
  • डोप टेस्ट में फेल होने के बाद इस क्रिकेटर को लगा घुड़सवारी का शौक
    +6और स्लाइड देखें
    यूसुफ में एक करोड़ में अपने लिए यह घोड़ा पसंद किया था।
  • डोप टेस्ट में फेल होने के बाद इस क्रिकेटर को लगा घुड़सवारी का शौक
    +6और स्लाइड देखें
    घोड़ा देखते यूसुफ।
  • डोप टेस्ट में फेल होने के बाद इस क्रिकेटर को लगा घुड़सवारी का शौक
    +6और स्लाइड देखें
    अपने खरीदे घोड़े के साथ यूसुफ पठान।
  • डोप टेस्ट में फेल होने के बाद इस क्रिकेटर को लगा घुड़सवारी का शौक
    +6और स्लाइड देखें
    जोधपुर यात्रा के दौरान उन्होंने घोड़ों के बारे में पूर्व महाराजा गजसिंह से भी चर्चा की थी।
  • डोप टेस्ट में फेल होने के बाद इस क्रिकेटर को लगा घुड़सवारी का शौक
    +6और स्लाइड देखें
    पोलो मैच देखने के दौरान यूसुप अपने बेटे के साथ।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jodhpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: During Suspension From Cricket This Player Search For Good Horse
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×