--Advertisement--

दो विवाह कर उलझे पति ने दोनों पत्नियों को कार में बंद कर जिंदा जलाया

दो विवाह कर उलझे पति ने दोनों पत्नियों को कार में बंद कर जिंदा जलाया

Dainik Bhaskar

Dec 21, 2017, 09:56 AM IST
राजस्थान के जालोर का मामला- पत राजस्थान के जालोर का मामला- पत

जालोर। चितलवाना थाना क्षेत्र के सेसावा गांव से एक किमी दूर मंगलवार दोपहर में खड़ी कार में लगी आग से दो महिलाओं की हुई मौत हादसा नहीं बल्कि हत्या थी। मंद बुद्धि पत्नी से परेशान हो एक व्यक्ति लाखों रुपए का जुर्माना भर दूसरी पत्नी ले आया। साथ में रहती दोनों पत्नियों के बीच बढ़ते विवाद से परेशान हो उसने दोनों को अपनी कार में पेट्रोल का छिड़काव कर जिंदा जला दिया। पति ने इसे हादसे का रूप देने का प्रयास अवश्य किया, लेकिन उसकी पोल खुल गई। यह है मामला...


- जालोर के चितलवाना थाना क्षेत्र के सेसावा में दो दिन पूर्व एक कार में आग लगने के कारण उसमें सवार दो महिलाओं की मौत हो गई थी। जबकि चालक ने बाहर निकल कर अपनी जान बचाने का दावा किया था। लेकिन यह एक हादसा नहीं होकर सुनयोजित हत्याकांड निकला।
- सेसावा गांव निवासी दीपाराम की पहली पत्नी मालू मंदबुद्धि की थी। इस कारण दीपाराम ने दोला देवी से दूसरा विवाह कर लिया। दो पत्नियों को साथ रखने के दौरान उनका आपस में झगड़ा बढ़ता गया। दोला देवी के हमेशा झगड़ा करने से दीपाराम का झुकाव एक बार फिर पहली पत्नी की तरफ हो गया।
- पालनपुर में ठेकेदारी करने वाले दीपाराम ने पंद्रह दिन पहले ही दोला की हत्या करने की योजना बना वहां से दो लीटर पेट्रोल खरीद अपने गांव आ गया। पुलिस के अनुसार दूसरी पत्नी कई दिन से गहनों की मांग कर रही थी। इसलिए उसने यही बहाना काम लिया। मंगलवार को सेसावा स्थित स्वयं के घर से दीपाराम ने दोनों पत्नियों को अरणियाली गांव में गहने बनवाने का कहकर कार में बिठाया। दूसरी पत्नी दौली अगली सीट पर तो पहली पत्नी मालू पीछे की सीट पर बैठी।
- दीपाराम ने पेट्रोल की बोतल ड्राइवर सीट के नीचे रखी थी। वापस घर लौटते समय चलती कार में पेट्रोल की बोतल का ढक्कन खोला ताकि पूरा बिखर जाए। इसके बाद तिल्ली फेंक कर वह कार को स्टार्ट छोड़कर ही नीचे उतर गया और गेट वापस बंद कर दिया। इससे कार ऑटो लॉक हो गई। चूंकि कार में दो लीटर पेट्रोल फैला था इसलिए उसने तेजी से आग पकड़ ली।
- दीपाराम के चिल्लाने पर ग्रामीण मौके पर पहुंचे। कार के शीशों पर काली फिल्म चढ़ी थी इसलिए अंदर बैठी दोनों पत्नियां दिखी नहीं। लोगों को सिर्फ आग ही दिखी। लोगों को इस बीच गैस टंकी दिखी तो विस्फोट होने के डर से भी कार के करीब नहीं गए। दूर से ही पानी डालते रहे। कार के शीशे टूटे तो पता चला कि दो महिलाएं जिंदा जल गईं।

लाखों रुपए का जुर्माना भर लाया था दूसरी पत्नी
- दौली देवी दीपाराम की दूसरी पत्नी थी। लेकिन दीपाराम उसका चौथा पति था। पहले एक शादी के बाद उसके दो जगह और नाते हुए। दीपाराम से तीसरा नाता हुआ। इसके लिए दीपाराम ने करीब 10 लाख रुपए समाज की पंचायत में जुर्माना भरा, 5 लाख से ज्यादा पंच पटेलों खाने पर खर्च किए। पहली पत्नी को नहीं छोड़ने के आश्वासन के साथ उसके नाम 10 लाख रुपए की एफडी करवानी पड़ी थी।

X
राजस्थान के जालोर का मामला- पतराजस्थान के जालोर का मामला- पत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..