Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» First Say No-No Akhilesh Speak Openly

नए साल का स्वागत

नए साल का स्वागत

SUNIL CHOUDHARY | Last Modified - Dec 30, 2017, 01:51 PM IST

जोधपुर। न्यू ईयर सेलिब्रेट करने परिवार सहित शनिवार को जोधपुर पहुंचे उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एकदम रिलेक्स मूड में नजर आए। छुट्‌टी का मूड होने के बावजूद ना-ना करते हुए हुए उन्होंने खुलकर सवालों का जवाब दिया। अखिलेश ने कहा कि नौजवानों, किसानों व गरीबों को तव्वजों दिए बगैर देश आगे नहीं बढ़ेगा। सत्ता में बैठे लोगों को इनका विशेष ख्याल रखना पड़ेगा।नया नहीं है राजस्थान…

- अखिलेश ने कहा कि उनके लिए राजस्थान नया नहीं है। मेरी प्रारम्भिक स्कूली शिक्षा राजस्थान के धौलपुर में हुई। राजस्थान की मुख्यमंत्री हमारे स्कूल में मुख्य अतिथि बनकर आती थी। बाद में हम दोनों एक ही सदन लोकसभा में साथ रहे।

- देश किस रास्ते पर जाए यह बड़ा सवाल है। देश किसानों, नौजवानों व गरीबो के बगैर आगे नहीं बढ़ सकता। जो लोग सत्ता में है उनकी जिम्मेदारी बड़ी है। हाल ही संपन्न गुजरात चुनाव में गुजरात मॉडल कही दिखाई नहीं दिया। किसान व नौजवानों के प्रति बदलाव दिखाई दे।

- राम मंदिर के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा वह स्वीकार्य है। किसी धर्म को मानना व्यक्तिगत मसला है। यह देश चलाने का मसला नहीं हो सकता। हम तो मंदिर भी जाएंगे और कहीं चादर चढ़ानी होगी तो वो भी चढ़ाएंगे। राजस्थानी की संस्कृति मिलीजुली रही है, लेकिन भाजपा जैसी कुछ ताकतें इस संस्कृति को बदलना चाहती है।

बड़ी उलझने हैं इतिहास में

- मैं चाहता हू कि नया साल बदलाव लेकर आए। साल जा रहा है चीजे अच्छी हो नए वर्ष में। साल के साथ लोगों के अंदर परिवर्तन हो। ये देश सभी ने मिलकर बनाया है और यह सभी का है। इतिहास को ज्यादा गहराई से नहीं देखना चाहिये। बड़ी उलझने है उसमें। इसलिए हम चाहते है कि देश तरक्की की राह पर आगे बढ़े। ऐसे मुद्दों पर नहीं उलझे।

सभी फोटो एल देव जांगिड़

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×