--Advertisement--

मंडोर में रावजी की गेर में उमड़ा जनसमूह

मंडोर में रावजी की गेर में उमड़ा जनसमूह

Danik Bhaskar | Mar 03, 2018, 10:32 AM IST
जोधपुर के मंडोर क्षेत्र में नि जोधपुर के मंडोर क्षेत्र में नि

जोधपुर। मारवाड़ की प्राचीन राजधानी मंडोर में पारम्परिक राव जी की गेर का अनूठा आयोजन शांतिपूर्वक संपन्न हो गया। जोधपुर की सबसे प्रमुख रावजी की गेर में हजारों लोग बड़े उत्साह के साथ भाग लेते है। प्रसिद्ध है रावजी की गेर...


- मारवाड़ की प्राचीन राजधानी रहे मंडोर में सदियों से रावजी की गेर का आयोजन किय जा रहा है। इस गेर में मंडोर क्षेत्र के प्रत्येक घर से लोग हिस्सा लेते है। जमकर श्लील गाळी गायन होने के कारण महिलाओं को इस गेर से दूर ही रखा जाता है। गेर में शामिल अधिकांश युवा हाथों में ल लाठी- डंडे थामे रहते है।
- होली के अवसर पर शुक्रवार दोपहर रावजी की गेर धूमधाम से शुरू हुई। हजारों लोगों के बीच राव बने युवक के साथ गेर आगे बढ़ती हुई विभिन्न मोहल्लों से होकर मंडोर के ऐतिहासिक नाग गंगा तालाब पहुंचती है।
- इस तालाब पर पहुंच सबसे पहले राव पानी में छलांग लगाते है। इसके साथ ही अन्य युवक भी पानी में कूद पड़ते है। सभी के स्नान करने के बाद यह गेर विसर्जित होती गई।


राव बना युवक होता है आकर्षण का केन्द्र


- रावजी की गेर में एक युवक राव बन नाचता-गाता आगे बढ़ता है। रावजी की गेर का आकर्षण यही राव होता है। बड़ी संख्या में लोगों के बीच राव के आगे बढ़ने के साथ गेर आगे बढ़ती है। मंडोर क्षेत्र में यह परम्परा सदियों से जारी है।

सभी फोटो एल देव जांगिड़

अगली स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो