Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» Now Its Going To Tough To Become A Chartered Accountants

अब और भी टफ हुआ सीए बनना, जानिये आईसीएआई ने कोर्स में कितना किया है बदलाव

अब और भी टफ हुआ सीए बनना, जानिये आईसीएआई ने कोर्स में कितना किया है बदलाव

SUNIL CHOUDHARY | Last Modified - Jan 02, 2018, 10:45 AM IST

जोधपुर। अब तक यह कहा जा रहा था कि सीए के लिए एंट्री तो आसान है लेकिन फिर कोर्स इतना टफ है कि स्टूडेंट इसमें फंस जाता है और फिर पास नहीं हो पाता। लंबे समय से एंट्री को टफ करने पर डिस्कशन चल रहा था और अब इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) ने सीए की एंट्री को भी टफ कर दिया है। इससे चार्टर्ड अकाउंटेंट बनना अब और कठिन होगा।ये किए गए हैं बदलाव...


- हाल ही में आईसीएआई के नेशनल चेयरमैन नीलेश एम विक्रमसे ने कोर्स में बदलाव के बारे में बताया था। उनके अनुसार इस सत्र से फाउंडेशन कोर्स में एडमिशन के लिए होने वाला सीपीटी एग्जाम 400 अंकों का होगा। पहले यह पेपर 200 अंकों का ऑब्जेक्टिव पेपर होता था। अब इसमें 200 अंकों का ऑब्जेक्टिव और 200 का सब्जेक्टिव पेपर होगा।
- सीए फाइनल के पेपर में भी कुछ बदलाव किए गए हैं। फाइनल में पहले आईटी का 100 मार्क्स का पेपर होता था, जिसे अब प्रैक्टिकल में बदल दिया गया है। स्टूडेंट्स की पसंद को ध्यान में रखते हुए एक ऑप्शनल पेपर भी जोड़ा है।
- इंडस्ट्री के सुझाव के आधार पर कुछ नए विषय जोड़ते हुए बिजनेस इकोनॉमिक्स और जनरल फाइनेंशियल नॉलेज को शामिल किया गया है।


तीन साल की रिसर्च के बाद हुआ बदलाव


- विक्रमसे ने बताया कि लंबे समय से सीए की एंट्रेंस परीक्षा टफ करने को लेकर डिस्कशन चल रहा था। इसलिए हमने सीपीटी को फाउंडेशन कोर्स में बदल दिया है। तीन साल की रिसर्च के बाद अब कोर्स इंटरनेशनल अकाउंटिंग स्टैंडर्ड के अनुरूप बना दिया गया है। इससे हमारा इनपुट-आउटपुट अनुपात सुधर जाएगा।


बहुत डिमांड है सीए की


- देश में हर साल बहुत कम युवा सीए बन पाते है। यही कारण है कि अप्रेल 2016 तक देश में महज 2.39 लाख ही सीए थे। जबकि करीब आठ से दस लाख स्टूडेंट सीए बनने का सपना संजोए हर वर्ष परीक्षा में शामिल होते है। इनमें से चुनिन्दा स्टूडेंट ही बहुत टफ मानी जाने वाली इस परीक्षा को पास कर पाते है। हर वर्ष बहुत कम सीए मिलने के कारण मार्केट में इनकी हमेशा डिमांड बनी रहती है। और सीए पास युवाओं के पास एक साथ जॉब के कई ऑफर रहते है। साथ ही इसमें बेहतरीन पैकेज भी मिलता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×