Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» On Republic Day Bsf Did Not Give Sweets To Pakistan Rangers

एलओसी पर भारी फायरिंग से नाराज बीएसएफ ने पाकिस्तानी रेंजर्स को नहीं खिलाई मिठाई

गणतंत्र दिवस पर पाकिस्तानी रेंजर्स को मिठाई खिलाने की परम्परा को इस बार बीएसएफ ने नहीं निभाई।

SUNIL CHOUDHARY | Last Modified - Jan 27, 2018, 11:43 AM IST

एलओसी पर भारी फायरिंग से नाराज बीएसएफ ने पाकिस्तानी रेंजर्स को नहीं खिलाई मिठाई

जोधपुर। पाकिस्तान की तरफ से जम्मू कश्मीर में लगातार की जा रही गोलाबारी से नाराज बीएसएफ ने इस बार गणतंत्र दिवस पर पाकिस्तानी रेंजर्स को मिठाई नहीं खिलाई। लम्बे अरसे बाद यह पहला मौका था जब गणतंत्र दिवस पर बीएसएफ ने बॉर्डर पर इस तरह से अपनी नाराजगी जताई। बॉर्डर पर गणतंत्र दिवस, स्वतंत्रता दिवस के अलावा ईद व दीपावली पर बीएसएफ और रेंजर्स के बीच बरसों से मिठाई का आदान-प्रदान करने की परम्परा रही है। इस कारण पाकिस्तान को नहीं खिलाई मिठाई…

- गत कुछ माह से जम्मू कश्मीर सेक्टर में एलओसी पर पाकिस्तान की ओर से बार-बार सीजफायर का उल्लंघन कर लगातार गोलाबारी की जा रही है। बीएसएफ इसका मुंह तोड़ जवाब दे रहा है। बीएसएफ की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान को जान-माल का भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। वहीं गत कुछ दिन के भीतर बीएसएफ के तीन जवान भी शहीद हो गए। इसे लेकर बीएसएफ के जवानों से लेकर अधिकारियों तक में पाकिस्तान के प्रति आक्रोश है। ऐसे में उन्होंने पहले से तय कर लिया था कि इस बार गणतंत्र दिवस पर बॉर्डर पर रेंजर्स को मिठाई नहीं दी जाएगी।

राजस्थान सीमा पर नहीं खिलाई मिठाई

- जोधपुर में बीएसएफ के राजस्थान फ्रंटियर के प्रवक्ता अनिल पालीवाल ने बताया कि ऊपर से मिले आदेश की पालना में इस बार राजस्थान सेक्टर में बॉर्डर पर किसी स्थान पर पाकिस्तानी रेंजर्स को मिठाई बेंट नहीं की गई। सामान्य तौर पर बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर व श्रीगंगानगर सेक्टर में सीमा पर रेंजर्स को मिठाई खिलाई जाती रही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jodhpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: elosi par bhaari faayringa se naaraaj BSF ne pakistani renjrs ko nahi khilaaee mithaaee
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×