--Advertisement--

एक हादसे ने बदल दिया इस खिलाड़ी का जीवन, चार वर्ष पश्चात ऐसे मिला अब परिजनों से

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2018, 12:51 PM IST

एक हादसे ने बदल दिया इस खिलाड़ी का जीवन, चार वर्ष पश्चात ऐसे मिला अब परिजनों से

जोधपुर में मंगलवार को चार वर्ष जोधपुर में मंगलवार को चार वर्ष

जोधपुर। एक हादसा किसी व्यक्ति की जीवन को कैसे बदल देता है इसका उदाहरण है सिलिगुड़ी निवासी मोहन थापा। रोलर स्केटिंग के नामी खिलाड़ी रहे मोहन थापा पांच बरस पूर्व तक दिल्ली की नामी स्कूलों के बच्चों के बीच एक जाना पहचाना नाम हुआ करता था, लेकिन एक सड़क हादसे में दिमाग ने भी काम करना बंद कर दिया। इसके बाद वे दिल्ली का अपना घर छोड़ निकल पड़े। चार वर्ष पश्चात अब उनकी याददाश्त लौटी तो उन्होंने अपने परिजनों के बारे में बताया। इस पर अपना घर की पहल पर उनकी बड़ी बहन और भतीजा जब लेने पहुंचे तो वे उनके गले लग रो पड़े। चार वर्ष से थे गायब...


- सिलिगुड़ी में रहने वाले मोहन थापा रोलर स्केटिंग के नामी खिलाड़ी रहे। इस बेहतरीन हुनर के दम पर उन्होंने दिल्ली पहुंच यहां की कई नामी स्कूलों के बच्चों को रोलर स्केटिंग की कोटिंग देना शुरू कर दिया। बच्चों के बीच विशेष पहचान बना चुके थापा ने विदेशों में भी रोलर स्केटिंग की प्रतियोगिता में हिस्सा लिया।
- पांच वर्ष पूर्व पत्नी के साथ हुई अनबन के बाद दोनों अलग हो गए। इसके बाद एक सड़क हादसे में उनका पांव खराब हो गया। इस दौरान उनका दिमागी संतुलन बिगड़ गया और वे अपनी याददाश्त गंवा बैठे। एक दिन वे अपने घर से निकल पड़े।
- उन्हें स्वयं याद नहीं कि वे कहां-कहां भटके। चौदह माह पूर्व वे भटकते हुए जोधपुर पहुंच गए। यहां कोई उन्हें अपना घर पहुंचा गया। अपना घर में शानदार देखभाल और इलाज के कारण उनकी खोई हुई याददाश्त लौट आई। उनके बताए पते पर सिलिगुड़ी में परिजनों को सूचित किया गया।
- इस पर मंगलवार सुबह सिलिगुड़ी से उनकी बड़ी बहन और भतीजा उन्हें लेने जोधपुर पहुंचे। अपना घर में अपनी बहन और भतीजे को देख वे लपक कर उनके गले लग गए और खुशी के मारे रोने लग गए।
- उनके भतीजे संजीत राणा ने बताया कि वे उन्हें सिलिगुड़ी ले जाकर एक बार पूरा इलाज कराएंगे। पूरी तरह से ठीक होने के बाद एक बार फिर इन्हें स्केटिंग के मैदान में उतारेंगे।

सभी फोटो एल देव जांगिड़

अगली स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो

X
जोधपुर में मंगलवार को चार वर्षजोधपुर में मंगलवार को चार वर्ष
Astrology

Recommended

Click to listen..