Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» This Sand Dunes Produced Music, No Body Know How It Came

थार के इस धोरे की मिट्टी से निकलता है संगीत, अाज तक कोई जान नहीं पाया इसका रहस्य

थार के इस धोरे की मिट्टी से निकलता है संगीत, अाज तक कोई जान नहीं पाया इसका रहस्य

SUNIL CHOUDHARY | Last Modified - Dec 27, 2017, 10:25 AM IST

जोधपुर। सुनने में भले ही अजीब लगे लेकिन थार के रेगिस्तान में स्थित एक रेतीले धोरे(सेंड ड्यून) की मिट्टी से संगीत की स्वर लहरिया निकलती है। मौसम के साथ-साथ आवाज तेज-धीमी होती रहती है। यह धोरा बाड़मेर से अस्सी किलोमीटर दूर स्थित सेतराऊ गांव में स्थित है। खासियत की बात यह है कि आसपास के अन्य धोरों से किसी प्रकार की अावाज नहीं निकलती। एक बार वैज्ञाानिक भी इस धोरे की मिट्टी का परीक्षण कर गए, लेकिन संगीत निकलने की तह तक नहीं पहुंच पाए।जानिए कैसे निकलती है धोरे से आवाज...


- बाड़मेर से अस्सी किलोमीटर दूर स्थित सेतराऊ गांव में पहाड़ों के निकट यह धोरा स्थित है। इसकी मिट्टी को खिसकाने या इस पर फिसलने के समय अलग-अलग तरह की आवाज निकलती है। मिट्टी हवा में उछालने के बाद वापस हाथ पर गिरने के समय भी आवाज निकलती है।
- सैकड़ों फीट लम्बे चौड़े इस धोरे के कुछ हिस्से में ही यह आवाज निकलती है। सर्दी के दिनों में आवाज कम हो जाती है। वहीं गर्मी बढ़ने के साथ आवाज तेज होती जाती है। एक बार दिल्ली से आए वैज्ञानिकों के दल ने इसकी जांच की। वे इसकी मिट्टी भी अपने साथ ले गए। यह टीम भी इसका खुलासा नहीं कर सकी कि आवाज कैसे आती है।


पर्यटक पहुंचते ही संगीत सुनने


- इस धोरे की जमीन के मालिक जितेन्द्र सिंह का कहना है कि बड़ी संख्या में पर्यटक यहां पर इसकी आवाज सुनने के लिए आते है। कुछ साल पहले क्षेत्र के लोगों ने इस धोरे की मिट्टी को पर्यटकों के बीच बेचना शुरू कर दिया था। उन्होंने अब इस पर रोक लगा दी। गांव वालों का कहना है कि यह इस धोरे से आवाज करीब पचास वर्ष से सुन रहे है। उनका कहना है कि गर्मी के दिनों में इसकी आवाज काफी दूरी तक सुनाई देती है।


अवैध खनन से है खतरा


- जितेन्द्र सिंह का कहना है कि संगीत निकालने वाले इस धोरे के बगल में पहाड़ी क्षेत्र है। ऐसे में वहां खनन माफिया ने अपने पांव पसार लिए है। बढ़ते खनन के कारण इस धोरे का अस्तित्व खतरे में है। उनका कहना है कि सरकार को इसके संरक्षण के लिए प्रयास करने चाहिये।

अगली स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jodhpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: thaar ke is dhore ki mitti se nikltaa hai sngait, aaaj tak koee jaan nahi paayaa iska rhsy
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×