Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» High Court Order State Government To Give Appointment To A Kinnar

हाईकोर्ट का ऐतिहासिक फैसला, किन्नर को पुलिस कांस्टेबल के पद पर नियुक्ति देने का आदेश

हाईकोर्ट का ऐतिहासिक फैसला, किन्नर को पुलिस कांस्टेबल के पद पर नियुक्ति देने का आदेश

SUNIL CHOUDHARY | Last Modified - Nov 13, 2017, 05:10 PM IST

हाईकोर्ट का ऐतिहासिक फैसला, किन्नर को पुलिस कांस्टेबल के पद पर नियुक्ति देने का आदेश
जोधपुर। राजस्थान हाईकोर्ट ने सोमवार को अपने एक ऐतिहासिक निर्णय में एक किन्नर को पुलिस कांस्टेबल के पद पर नियुक्ति देने का आदेश दिया। हाईकोर्ट ने सोमवार को दिए अपने फैसले में राजस्थान पुलिस भर्ती परीक्षा-2013 में पास कर चुके एक किन्नर को नियुक्ति देने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट ने किन्नर गंगा कुमारी को वर्ष 2015 से छह सप्ताह के भीतर नियुक्ति देते हुए सेवा से जुड़े सभी परिलाभ देने का आदेश दिया। प्रदेश में यह पहला अवसर है जब कोई किन्नर सरकारी सेवा में चयनित होगा। यह है मामला...

- वर्ष 2013 में कांस्टेबल भर्ती परीक्षा हुई थी। परीक्षा में प्रदेश के सभी जिलों में 1.25 लाख अभ्यार्थियों ने हिस्सा लिया था। इसमें से पुलिस ने 11400 अभ्यार्थियों का कांस्टेबल पद के लिए चयन कर लिया था। इसमें जालोर जिले के रानीवाड़ा थाना क्षेत्र निवासी गंगा पुत्री बीकाराम का भी चयन हो गया। सभी अभ्यार्थियों का मेडिकल कराया गया तो गंगा के किन्नर होने की पुष्टि हुई। ऐसे में नियुक्ति को लेकर पुलिस अधिकारी असमंजस में पड़ गए। जब से लेकर अब तक किन्नर को नियुक्ति नहीं मिली।
- पड़ताल में सामने आया कि गंगा के किन्नर होने की पुष्टि होने के बाद जालोर एसपी ने फाइल रेंज आईजी जोधपुर जीएल शर्मा को भेजकर नियुक्ति को लेकर राय मांगी थी। ऐसा मामला पहली बार आने पर आईजी ने 3 जुलाई 2015 को फाइल पुलिस मुख्यालय भेज दी गई है, लेकिन यहां पर भी पुलिस के अधिकारी कुछ निर्णय नहीं कर पाए। ऐसे में पुलिस मुख्यालय ने राय जानने के लिए फाइल गृह विभाग को भेज दी।
- परीक्षा पास करने के बावजूद नौकरी नहीं मिलने से निराश गंगा ने सरकारी विभागों के कई चक्कर काटे, लेकिन उसे राहत मिलती नजर नहीं आई। इस पर उसने राजस्थान हाईकोर्ट में याचिका दायर कर न्याय की गुहार लगाई। हाईकोर्ट के न्यायाधीश दिनेश माहेश्वरी ने गंगा की याचिका का प्राथमिकता से निस्तारण करते हुए आज राज्य सरकार को छह सप्ताह के भीतर पुरानी तिथि से नियुक्ति देने का आदेश दिया।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×