Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» Know What Happen When Kangna Reached At A Restaurant

जानिये क्या हुआ जब मारवाड़ी खाने का आनंद लेने कंगना पहुंच गई एक रेस्टोरेंट में

जानिये क्या हुआ जब मारवाड़ी खाने का आनंद लेने कंगना पहुंच गई एक रेस्टोरेंट में

SUNIL CHOUDHARY | Last Modified - Nov 16, 2017, 11:25 AM IST

जोधपुर। एक्ट्रेस कंगना रनौत जोधपुर में अपनी अपकमिंग फिल्म मणिकर्णिका की शूटिंग के दौरान काफी रिलेक्स नजर आ रही है। बुधवार रात शूटिंग से फ्री हो कंगना यहां के एक रेस्टोरेंट में मारवाड़ी खाना खाने पहुंच गईं। काफी खुश नजर आ रही कंगना ने न केवल हाथ से खाना खाया बल्कि वहां मौजूद लोगों से बातचीत भी की।

- कंगना कई दिन से जोधपुर में झांसी की रानी लक्ष्मी बाई के जीवन पर आधारित फिल्म मणिकर्णिका की शूटिंग में व्यस्त है। बुधवार रात करीब साढ़े दस बजे वे सरदारपुरा सी रोड स्थित जिप्सी रेस्टोरेंट पहुंच गई। सर्दी से बचने के लिए कंगना ने जैकेट पहन रखी थी। साथ ही एक कैप भी लगा रखी थी।

- कंगना यहां शूटिंग के लिए आए छह साथियों के साथ इस रेस्टोरेंट में पहुंची। इनमें तीन युवतियां और तीन युवक थे। कंगना ने यहां के प्रसिद्ध मारवाड़ी खाने के बारे में पूछताछ की। इसके बाद उन्होंने दाल-बाटी चूरमा की थाली का ऑर्डर किया। (इस थाली में दाल बाटी के साथ ही मारवाड़ी पंचकूटा यानि कैर-सांगरी-कुमट की सब्जी, लहसुन की चटनी, मिर्ची बड़ा के साथ बाजरे का खींच सहित कुल 31 अलग-अलग तरह के आइटम होते हैं।)

- कंगना ने मारवाड़ी खाने को खाने का तरीका पूछा। इस पर उन्हें बताया गया कि दाल-बाटी-चूरमा सहित खींच को अंगुलियां चाटते हुए हाथ से खाने का कुछ अलग ही मजा है। इस पर कंगना ने ठेठ मारवाड़ी अंदाज में चम्मच एक तरफ रख चटखारे लेते हुए अंगुलिया चाटते हुए हाथ से इस खाने का लुत्फ उठाया। उन्होंने इसे बेहतरीन खाना बताते हुए कहा कि अब शूटिंग स्थल पर दाल-बाटी के साथ यहां बने खींच को मंगाया जाएगा ।

- खाना पूरा होने के पश्चात कंगना ने इसे बनाने वाले स्टाफ से मुलाकात की और बेहद स्वादिष्ट खाना बनाने की तारीफ की। उन्होंने मारवाड़ी खाने के अन्य व्यंजनों के बारे में भी जानकारी ली। कंगना की एक थाली यहां 355 रुपए में मिलती है। कंगना के खाने का भुगतान उनके साथ आए शूटिंग स्टाफ के एक युवक ने किया।

पच्चीस वर्ष पुराना है ये यह रेस्टोरेंट

सरदारपुरा सी रोड स्थित जिप्सी रेस्टोरेंट करीब पच्चीस वर्ष पुराना है। परिवार के साथ यहां खाने की बेहतरीन सुविधा उपलब्ध है। इस रेस्टोरेंट में दो तरह की थाली बहुत प्रसिद्ध है। एक थाली मारवाड़ी व्यजंनों की होती है तो दूसरी में यहां प्रचलित अन्य सब्जियां व रोटी के साथ चावल व मिठाई मिलती है।

- खाना खाने के बाद उन्होंने वहां मौजूद सभी लोगों से मुलाकात की। लोगों ने बारी-बारी से कंगना के साथ सेल्फी ली। कंगना करीब एक घंटे तक वहां रही।

फोटो एल देव जांगिड़

अगली स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×