Hindi News »Rajasthan »Jodhpur »News» This Kansa Is Diffrent From Other, This Look Creat By Himself

यह कंस

यह कंस

SUNIL CHOUDHARY | Last Modified - Nov 16, 2017, 04:41 PM IST

जोधपुर। अब तक असुरों को हमने भारी-भरकम बालों और दाढ़ी-मूंछ में डरावने चेहरों के साथ ही देखा था लेकिन इन दिनों टीवी पर चल रहे एक सीरियल में कंस का किरदार निभा रहे मनीष वाधवा ने अपनी एक्टिंग से इस भ्रम को तोड़ दिया है कि असुर हमेशा डरावने ही होते होंगे।ऐसे तय किया कंस का लुक...


- यहां चल रही एक फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में मनीष जोधपुर में हैं। बातचीत में उन्होंने बताया कि क्रिएटिव टीम लुक फाइनल कर रही थी तो किरदार में दाढ़ी-मूंछ भी थी लेकिन मैंने मना कर दिया। कंस कैसा दिखता था, इसका कोई प्रमाण भी तो नहीं है। मैंने टीम से कहा कि हरकतें और आंखें डरावनी होनी चाहिए, चेहरा नहीं और तय कर लिया था कि बिना दाढ़ी-मूंछ के ही मैं कंस का किरदार निभाऊंगा। टीम तैयार नहीं थी।

- हमने लुक टेस्ट के बाद मॉक शॉट भी लिए। सबको पसंद आए और कंस का नया चेहरा अब दर्शकों को पसंद भी आ रहा है। मनीष ने बताया कि उन्हें पहचान चाणक्य के किरदार से मिली थी और जब कंस का किरदार ऑफर हुआ तो मन में डर था कि कहीं कमाया गया पुण्य पाप में न बदल जाए लेकिन जैसे-जैसे सीरियल और रोल लोगों को पसंद आने लगा, यह डर भी जाता रहा। अब तो हालात यह है कि कंस के लुक के कारण ही जोधपुर एयरपोर्ट पर भी लोगों ने उन्हें पहचान लिया।


नहीं हूं कंस जैसा


- मनीष के पहले सीरियल भूतनाथ की शूटिंग भी जोधपुर में ही हुई थी। मनीष खुद के लक्की मानते हैं क्योंकि उन्हें अलग-अलग शेड्स के रोल मिल रहे हैं चाहे वह निरंजन प्रताप का किरदार हो या बालाजी विश्वनाथ का। आम जीवन में रोल का कितना असर रहता है, पूछने पर मनीष ने कहा, अपने दोस्तों को मैं सलाह जरूर दे देता हूं लेकिन कंस और निरंजनप्रताप जैसा तो बिल्कुल नहीं हूं।


विलेन बनना मुश्किल हीरो बनना आसान


- मनीष की आंखें मानो बात करती सी लगती हैं लेकिन खुशमिजाज मनीष भी खूब बोलते हैं। वे एक्टर नहीं होते तो एडवोकेट होते। विलेन बनना मुश्किल है या हीरो तो उनका सीधा जवाब था हीरो। उन्होंने कहा कि विलेन बनना बहुत आसान है लेकिन हीरो बनना मुश्किल है क्योंकि अच्छा दिखने के लिए कई जतन करने पड़ते हैं, चाहे वह सीरियल हो या रियल। एक्टिंग में करिअर बनाने वालों के लिए टिप्स के बारे में पूछने पर बोले, आईना देख लो। खुद कन्वेंस हो जाओ तो स्टेज पर एक्टिंग कीजिए और फिर भी लगन और धैर्य बना रहे तो मुंबई आ जाइए।


कई एनिमेटेड और हॉलीवुड फिल्मों में कर चुके हैं डबिंग


- मनीष कई एनिमेटेड और हॉलीवुड फिल्मों के लिए डबिंग भी कर चुके हैं। उनके अनुसार डबिंग से उन्हें एक्टिंग में भी काफी हेल्प मिली जैसे कितनी दूर से बोलने या चेहरा घूमने पर आवाज के उतार-चढ़ाव का असर उन्हें डबिंग से ही समझ में आया। उन्होंने कहा कि जब इसका फर्क कंस का किरदार निभाते हुए क्रिएटिव टीम ने भी देखा। मनीष को डांस नहीं आता लेकिन वे गाने गा रहे हैं और जल्द ही डांस करते भी नजर आएंगे।

अगली स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×