जोधपुर

--Advertisement--

बंगाल से नाबालिग को शादी के लिए बेचने लाए जोधपुर, दूल्हे के घर छिपे, फेरों से 2 दिन पहले धरे गए दलाल समेत 8 लोग

27 वर्षीय युवक ने लड़की के लिए पैसे चुकाए, प. बंगाल से लाई लड़की के माता-पिता, भाई भी आए थे

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 08:18 AM IST
Case of selling a girl

जोधपुर. शहर में मानव तस्करी के दलाल सक्रिय हैं। ये दलाल प्रदेश के बाहर से लड़कियां खरीदकर लाते हैं और इनकी यहां शादी करवाते हैं। इसके लिए ये लड़के के पक्ष से पैसे लेते हैं और अपना कमीशन काटकर लड़की के पक्ष को देते हैं। ऐसे 1-2 नहीं बल्कि 7 मामले तो केवल एक टैक्सी ड्राइवर ने ही कबूल हैं। ऐसे ही एक मानव तस्करी के मामले का खुलासा शनिवार को हुआ।

रविवार को ड्रेस व सामग्री खरीदनी थी, सोमवार को होने थे फेरे: तय तारीख के मुताबिक नाबालिग अपने माता-पिता, नाबालिग भाई और महिला दलाल बसंती टंडन, उसके बेटे विनोद टंडन, बसंती के भाई राकेश साहू के साथ जोधपुर स्थित सरदारपुरा बी रोड आ गई। यहां पर नाबालिग की शादी पवन प्रजापत (27) से होनी थी। पवन ने महिला एजेंट व उसके परिवार और नाबालिग के परिवारजनों को अपने घर में छुपा कर रख लिया। नाबालिग की पवन के साथ 13 अगस्त को शादी होनी थी। नाबालिग शनिवार को जोधपुर पहुंची। रविवार को शादी की ड्रेस व अन्य सामग्री खरीदनी थी और सोमवार को फेरे लेने का मुहूर्त था। इसके लिए पवन ने सारी तैयारियां कर ली थी। सूचना मुखबिर से पुलिस तक पहुंच गई। मौके पर मानव तस्करी यूनिट पूर्व और पश्चिम की टीम के साथ सरदारपुरा पुलिस टीम भी आ गई और आरोपियों को गिरफ्तार कर दोनों नाबालिग भाई-बहन को बाल सुधार गृह भेज दिया।

7 शादियां करवा चुका ऑटोचालक : नागौर हाल चौहाबो 14 सेक्टर निवासी चंद्रसिंह पेशे से टैक्सी चालक है। उसने बसंती टंडन के साथ मिलकर इसी तरह से जोधपुर में अब तक सात शादियां करवा दी हैं। बदले में 20-30 हजार रुपए कमीशन के मिलते हैं। इस मामले में उसे और आशीष को बीस हजार रुपए मिलने थे। एक लाख रुपए की राशि नाबालिग के माता-पिता को मिलने वाली थी।

X
Case of selling a girl
Click to listen..