200 घराें में सर्वे / 43 पशुओं में मिले बीमारी फैलाने वाले कीटाणु, जोधपुर में दो मौतों के बाद प्रशासन सतर्क



Congo fever: administration alert from the deaths of two people in Jodhpur
X
Congo fever: administration alert from the deaths of two people in Jodhpur

  • बीमारी से महिला सहित दाे लाेगाें की माैत के खुलासे ने सरकार और चिकित्सा विभाग की नींद उड़ा दी है
  • बीकानेर से भी सैंपल लिए जा रहे, गुजरात के कुछ हिस्सों में भी कांगो फीवर के मरीज सामने आए हैं

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 12:30 AM IST

जोधपुर. प्रदेश में स्वाइन फ्लू में टाॅप पर रहे जाेधपुर में अब कांगाे फीवर का खाैफ है। यहां इस बीमारी से मंगलवार काे एक महिला सहित दाे लाेगाें की माैत के खुलासे ने सरकार और चिकित्सा विभाग की नींद उड़ा दी है। पिछले 10 दिन में तीन पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। जोधपुर समेत बीकानेर से भी सैंपल एकत्र किए जा रहे हैं।

 

जाेधपुर के बाेरुंदा कस्बे की जिस महिला की कांगाे फीवर से माैत हुई, उसके घर के आस-पास की आधा किलोमीटर की परिधि में अलग-अलग टीमें गठित कर सर्वे शुरू किया गया है। करीब 200 घरों के 1100 सदस्यों की जांच की गई। कांगो से इस महिला के अलावा जैसलमेर के युवक की माैत हुई, लेकिन उसके परिजनों ने सैंपल देने से इनकार कर दिया। उधर, जिले के चौखा गांव में इस बीमारी का पहला संदिग्ध मिला था।

 

पशुपालन विभाग ने इस गांव में तीन बार में 73 पशुओं के ब्लड सैंपल लिए। अब इनकी जांच रिपाेर्ट में चाैंकाने वाली जानकारी सामने आई है। रिपाेर्ट के अनुसार करीब 40 यानी 50 फीसदी पशुअाें के सैंपल पॉजिटिव मिले हैं। यह कांगो फीवर के लिए अलार्मिंग है, क्योंकि इन मवेशियों से 19 परिवार सीधे जुड़े हैं। उन परिवार में से भी कांगो फीवर के संदिग्ध या पॉजिटिव आने की संभावना जताई जा रही है। विभाग अब तक करीब 4473 मवेशियों पर दवा का छिड़काव कर चुका है।


जोधपुर से जयपुर तक अधिकारियों की बैठक
चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने जयपुर में चिकित्सा विभाग के अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि चिकित्सा विभाग पूरी तरह सजग है। जाेधपुर में कलेक्टर ने भी चिकित्सा विभाग और पशुपालन विभाग के साथ बैठक की। चिकित्सा विभाग के द्वारा 10 दिन में करीब 129 मरीजों के संपर्क में आए लोगों के सैंपल एनआईवी पुणे में जांच के लिए भेजे गए हैं। वहीं 50 से अधिक संदिग्ध मरीजों के आसपास के बाड़ाें में से पशुओं के सैंपल जांच के लिए भेजे है।

 

गुजरात के कुछ हिस्सों में भी कांगो फीवर के मरीज सामने आए हैं। गुजरात के महामारी विभाग के निदेशक डॉ. दिनकर रावल के मुताबिक अहमदाबाद में पांच मरीजों की डेथ हो चुकी है। दर्जनों संदिग्ध हैं और करीब दस पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। जानकारी के अनुसार बार्डर से लगे इलाकों में यह अधिक फैलने की संभावना बताई जा रही है क्योंकि फिलहाल पाकिस्तान में कांगो फीवर है।

 

मेडिकल कॉलेज ने कांगाे फीवर के 90 सैंपल भेजे
डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज ने बुधवार को कांगो फीवर के 90 सैंपल एनआईवी पुणे भेजे हैं। कांगो फीवर के नोडल अधिकारी डॉ. सुमन भंसाली ने बताया कि इसमें से 71 बोरूंदा और 19 मेडिसिटी हॉस्पिटल से आए हैं। इससे पहले मेडिकल कॉलेज 39 सैंपल जांच के लिए पुणे भेज चुका है। जिनकी रिपोर्ट आना अभी बाकी है। 

लक्षण

सिरदर्द, तेज बुखार, पीठ, जोड़ों और पेट में दर्द और उल्टी इसके अलावा गंभीर पीलिया और अनियंत्रित रक्तस्राव शामिल है।


इन्हे अधिक खतरा
चरवाहों, कैंपरों, कृषि श्रमिकों, पशु चिकित्सकों, बूचड़खानों में काम करने वाले लोगों और अन्य व्यक्तियों के पास पशुधन और टिकस के संपर्क में आने से संक्रमण का खतरा होता है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना