जोधपुर / डेंगू के 37 और पॉजिटिव, अब तक 800 मरीज, कार्ड टेस्ट का आंकड़ा 39,068

प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • इस साल स्वाइन फ्लू के आंकड़े से 12 अंक दूर डेंगू  
  • मुख्यमंत्री के गृह जिले में डेंगू को रोकने में नाकाम चिकित्सा एवं स्वास्थ्य और नगर निगम

दैनिक भास्कर

Nov 07, 2019, 09:07 AM IST

जोधपुर. मुख्यमंत्री के गृह जिले में शहर के दो बड़े महकमे चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम डेंगू के वायरस की रोकथाम में नाकाम साबित हो रहे हैं। हाल यह है कि पूरे साल में जहां स्वाइन फ्लू के 812 पॉजिटिव मरीज हैं, वहीं डेंगू का इस साल का आंकड़ा 800 तक पहुंच गया है। यह आंकड़ा तो वह है जो चिकित्सा विभाग मानता है जबकि कार्ड टेस्ट पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 39068 पहुंच गया है। पर विभाग कार्ड टेस्ट को नहीं मानता है। इधर, एम्स आयुष विभाग ने पिछले 16 दिन में करीब 1680 व्यक्तियों को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला काढ़ा पिलाया है। वहीं दूसरी ओर एमडीएमएच अधीक्षक ने आनन फानन में बिना जरूरी सुविधाएं किए ही हेमेटोलॉजी विभाग के लिए बने वार्ड में मेडिसिन मरीजों को भर्ती करना शुरू कर दिया है।


नवंबर के 6 दिन में 141 मरीज, अब तक 800
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग जिस एलाइजा टेस्ट को मानता है उसके 6 दिन में 141 मरीज सामने आ चुके हैं। बुधवार को 37 नए पॉजिटिव मरीज और सामने आए। इसके चलते अब तक एलाइजा पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 800 पहुंच गया है। कार्ड टेस्ट पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 39068 हो गया है। इन छह दिनों में केवल एक दिन ऐसा था जिसमें कोई पॉजिटिव मरीज नहीं आया क्योंकि कोई टेस्ट ही नहीं लगा था। नवंबर में अब तक एक नवंबर को 27, दो को 45, तीन को 17, चार को जीरो, पांच को 15, छह को 37 मरीज सामने आए हैं।

 

एमडीएमएच: नए वार्ड की व्यवस्था पर संसाधनों की कमी
मौसमी बीमारियों के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए एमडीएमएच प्रशासन ने अस्पताल में मेडिसिन विभाग के मरीजों के लिए हेमेटोलॉजी विभाग के लिए बने वार्ड को मरीजों के लिए खोल दिया लेकिन उसमें व्यवस्था और संसाधनों की कमी को पूरा नहीं किया। हाल यह है कि एमडीएमएच मोर्चरी के सामने बने सुपर स्पेशलिटीज विंग में मेडिसिन के मरीजों को भर्ती करना शुरू किया है। लेकिन इन मरीजों का ध्यान रखने के लिए नर्सिंग स्टाफ ही पूरा नहीं है। जानकारी के अनुसार गुरुवार को इस वार्ड में नर्सिंग के नाम पर केवल एक कर्मचारी ही रहेगा।

 

एम्स के आयुष विभाग ने पिलाया 1680 लोगों को पिलाया काढ़ा
एम्स के आयुष विभाग की ओर से 22 अक्टूबर से डेंगू, वायरल बुखार आदि से लड़ने के लिए जरुरी रोग प्रतिरोध क्षमता को बढ़ाने वाला काढ़ा ओपीडी समय में सुबह 9 से 11 बजे तक पिलाना तय किया था। इसके तहत करीब 16 दिन में 1680 लोगों को वातश्लेष्मज्वरहर क्वाथ काढ़ा पिलाया जा चुका है। जानकारी के अनुसार 22 नवंबर तक यह काढ़ा आयुष विभाग में तय समय में निशुल्क पिलाया जाएगा।
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना