जोधपुर / उपमुख्यमंत्री पायलट ने कहा- दलित उत्पीड़न की घटनाएं रोकने को राजनीतिक संदेश जरूरी

उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट - फाइल फोटो। उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट - फाइल फोटो।
X
उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट - फाइल फोटो।उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट - फाइल फोटो।

  • कहा- लोगों को भयभीत करने वालों को बताना पड़ेगा कि अब ऐसे अपराधियों को बख्शा नहीं जाएगा
  • सचिन पायलट ने कहा- सरकार को क्राइम के खिलाफ जीरो टोलरेंस रखना होगा

दैनिक भास्कर

Feb 29, 2020, 04:47 AM IST

जोधपुर. एक शादी समारोह में शिरकत करने शुक्रवार काे जाेधपुर आए उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने नागाैर व बाड़मेर में दलित युवकों से मारपीट जैसे प्रकरणों की जिम्मेदारी तय करने की जरूरत बताई। पायलट ने कहा कि दलित उत्पीड़न और इसी तरह की अन्य घटनाओं को रोकने के लिए राजनीतिक संदेश देना जरूरी है। लोगों को भयभीत करने वालों को बताना पड़ेगा कि अब ऐसे अपराधियों को बख्शा नहीं जाएगा। इससे उनके जेहन में खौफ पैदा होगा। सरकार को क्राइम के खिलाफ जीरो टोलरेंस रखना होगा। 


वे पीसीसी सचिव करणसिंह उचियारड़ा के परिवार में आयोजित शादी समारोह में शिरकत करने जोधपुर आए थे। पत्रकार वार्ता में उन्होंने नागौर की घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि नागौर में दलित साथियों के साथ हुए हादसे से हम विचलित हैं। इस प्रकरण की जांच करने के लिए पीसीसी ने केबिनेट मंत्री मास्टर मेघवाल, विधायक हरीश मीणा व महेश शर्मा को नागौर भेजा था। तीनों ने तथ्यों का जायजा लिया और पूरी पड़ताल की। मुझे कल ही इसकी जांच रिपोर्ट मिल गई थी। मैंने इस रिपोर्ट को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज दिया है। सिरोही, बाड़मेर, झालावाड़ में ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना