--Advertisement--

शेरगढ़ में डॉ. आम्बेडकर की प्रतिमा को किया क्षतिग्रस्त, मौके पर एकत्र हुई भारी भीड़

Dainik Bhaskar

Apr 30, 2018, 10:59 AM IST

आसपास के गांवों से भी लोग शेरगढ़ पहुंचना शुरू हो गए। एहतियात के तौर पर शेरगढ़ में अतरिक्त पुलिस बल भेजा गया है।

dr. br ambedkar idol were damaged at shergarh

जोधपुर. शेरगढ़ में सोमवार को कुछ असामाजिक तत्वों ने बाबासाहेब डॉ.भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा खंडित कर सद‌्भाव तोड़ने की कोशिश की, लेकिन समाज के संयम और पुलिस व जनप्रतिनिधियों की समझाइश से यह कोशिश कामयाब नहीं हो पाई। यहां अंबेडकर सर्किल पर स्थापित बाबासाहेब की प्रतिमा का सिर सोमवार को जमीन पर पड़ा मिला। इससे नाराज अजा-जजा समाज के लोग बड़ी संख्या में वहां एकत्रित होकर प्रदर्शन करने लगे। लोगों ने जोधपुर रोड जाम कर दी और टेंट लगा कर धरने पर बैठ गए। एएसपी खीवसिंह राठौड़ के नेतृत्व में पहुंची पुलिस ने खंडित प्रतिमा पर कपड़ा ढकवाया। इतने में विधायक बाबूसिंह राठौड़ व पीसीसी सदस्य उम्मेदसिंह राठौड़ भी मौके पर पहुंच गए।

- एएसपी खीवसिंह ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को वचन दिया कि आरोपियों को 7 दिन में पकड़ लिया जाएगा। वहीं विधायक राठौड़ व पीसीसी सदस्य ने भी दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिला कर नई अष्टधातु प्रतिमा के लिए एक-एक लाख रुपए देने की घोषणा की। इस पर दलित समाज ने भी संयम रखते हुए पुलिस को कार्रवाई के लिए 7 दिन का समय देकर धरना स्थगित कर दिया।

सुबह 5 बजे तक सही थी प्रतिमा, बाद के आधे घंटे में खंडित हुई
प्रतिमा को अलसुबह 5 से 5:30 के बीच खंडित किया गया है। शेरगढ़ पुलिस थाने के हैड कांस्टेबल ने सुबह 5 बजे अंबेडकर सर्किल से गुजरते समय प्रतिमा को सुरक्षित देखा था। वे सोइंतरा में बस पलटने की दुर्घटना पर वहां गए थे और सुबह लौटते समय उन्होंने प्रतिमा को देखा था। इसके बाद ग्रामीणों ने प्रतिमा को खंडित पाया।

विधायक के विश्वास, पुलिस के वचन और समाज के संयम से थम गया विवाद

1. विधायक
अगर मैं फर्क राखूं तो आप भी राख लीजो
शेरगढ़ विधायक राठौड़ ने बड़े ही धैर्य से लोगों से समझाइश की। उन्होंने घटना की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करवाने का आश्वासन दिया। उन्होंने यहां तक कह दिया कि अगर मैं फर्क राखूं तो आप भी फर्क राख लीजो। इससे लोगों के विश्वास को बल मिला और वे शांत हो गए।

2. एएसपी
7 दिन में गिरफ्तारी होगी नहीं तो नौकरी छोड़ दूंगा
एएसपी खीवसिंह भाटी ने प्रदर्शन करने वालों से कहा कि आरोपियों को 7 दिन के अंदर गिरफ्तार नहीं कर पाया तो वे नौकरी छोड़ देंगे। आरोपियों को जल्द पकड़ने के लिए ऐसे मामलों के विशेषज्ञ एएसआई अमानाराम मेघवाल को जैसलमेर से बुलाया गया है। घटनास्थल से फिंगर प्रिंट व पैरों के निशान भी जुटाए गए हैं।

3. समाज
घटना पर गुस्सा, लेकिन राजनीति नहीं होने देंगे
जय भीम शिक्षण संस्थान के संयोजक तुलसीदास राज सहित अन्य लोग भी इस घटना को राजनीतिक मंच के रूप में नहीं देखना चाह रहे थे। कुछ पार्टी के नेता जब वहां आकर राजनीति करने लगे तो दलित नेताओं ने उन्हें टोक दिया। भंवरलाल पूनावत ने कहा कि इस घटना से सभी जाति धर्म के 36 कौम के लोगों का अपमान हुआ है।

X
dr. br ambedkar idol were damaged at shergarh
Astrology

Recommended

Click to listen..