• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • Fraud in the name of investing in bitcoin: 10th pass Manoj lured 2.40 lakhs to 24 lakhs in 6 months, father brother in law made agent

जोधपुर / बिटकॉइन में निवेश के नाम पर ठगी:10वीं पास मनोज ने 2.40 लाख को 6 महीने में 24 लाख करने का झांसा दिया, पिता-जीजा को एजेंट बनाया

आरोपी मनोज कंपनी के फोटोग्राफ्स दिखाकर लोगों को ठगता था। आरोपी मनोज कंपनी के फोटोग्राफ्स दिखाकर लोगों को ठगता था।
X
आरोपी मनोज कंपनी के फोटोग्राफ्स दिखाकर लोगों को ठगता था।आरोपी मनोज कंपनी के फोटोग्राफ्स दिखाकर लोगों को ठगता था।

  • रावनियाना गांव के मनोज ने गैंग बनाकर दर्जनों लोगों को ठगा
  • व्यापारी, शिक्षक तक झांसे में आए, रौब दिखाने के लिए बॉडीगार्ड भी रखता

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2020, 08:40 AM IST

पीपाड़ शहर (गोविंद गौड़). जयपुर में एसओजी द्वारा पकड़ा गया ठग मनोज कुमार पटेल पीपाड़ शहर के निकटवर्ती रावनियाना गांव का निवासी है। उसने अपने पिता रामदीन पटेल के साथ मिलकर पीपाड़ शहर सहित आसपास के करीब 100 से अधिक लाेगाें से भी 3 कराेड़ रुपए की ठगी की है। बेटे एक कंपनी खाेलकर लाेगाें काे जमा रुपए पर 10 गुना बिटकाॅइन (डिजिटल करेंसी) देने का दावा किया। उसके पिता ने इसका प्रचार सब्जी मंडी के व्यापारियों सहित अन्य लोगों में किया। उन्होंने जमा धन पर बिटकॉइन के मुनाफे के साथ ही दुबई घुमाने, लग्जरी गाड़ी व ब्रांडेड माेबाइल अादि का लालच भी दिए। इससे 100 से अधिक लाेग उनके झांसे में अा गए। अब जब उन्हें मुनाफा तो दूर जमा राशि भी नहीं मिली तो उन्होंने गुरुवार काे कोर्ट के इस्तगासे के जरिए पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाया है। 

अधिवक्ता ऋषि टाक, निर्मल कटारिया व जितेंद्र कच्छावाह के जरिए प्रार्थी सुनील कच्छावाह, साेहनलाल कच्छावाह, तेजाराम टाक व नंदकिशाेर टाक ने काेर्ट के जरिए दर्ज करवाए मामले में बताया कि रावनियाना निवासी मनोज पटेल बीटीसी एड्स प्रो नामक कंपनी चलाता है। उसके पिता रामदीन पटेल का पीपाड़ शहर की सब्जी मंडी में आना-जाना रहता है। जहां उन्हाेंने लाेगाें से जान-पहचान कर उन्हें बेटे की कंपनी में रुपए जमा करवाने पर 6 से 8 माह में 10 गुना राशि मिलने के बारे में जानकारी दी। 

गरीब-अमीर सब लालच में फंसे

आरोपी के झांसे में आए अधिकांश लोग पीपाड़ सब्जी मंडी में सब्जी के व्यापारी व दलाल है। जहां मनोज कुमार का पिता कंपनी के बारे में बड़ी-बड़ी बातें कर लोगों को झांसे में लेता। फिर मनोज पटेल का जीजा गजेंद्र पटेल 2017 में कंपनी की विस्तृत जानकारी देने के लिए सब्जी मंडी में मीटिंग करने आया। जिसमें परिवादियों के साथ 7-8 लोगों को लेकर गया। मीटिंग में बड़े-बड़े सपने दिखाकर हर सदस्य से 240000 का निवेश करवाया और 6 से 8 महीने में 10 गुना यानी 24 लाख रुपए देने का वादा किया। वादे के मुताबिक 6 महीने बाद पैसे लौटाने थे तो लोगों ने संपर्क करना शुरू किया। इस पर लोगों को अलग-अलग बहाने बनाने लगा। किसी को बताया कि जल्दी चेक आएगा तो किसी को बताया कि प्रोसेस चल रहा है। ऐसे आश्वासन पर लोग विश्वास करने लगे लेकिन जब साल दो साल बाद भी पैसे नहीं लौटाए तो लोगों को धोखाधड़ी का शक हुआ और रिपोर्ट दर्ज करवाई। 

हाई-प्रोफाइल लाइफ स्टाइल

शातिर मनोज लोगों पर खुद का प्रभाव दिखाने के लिए हाई-प्रोफाइल लाइफ स्टाइल में रहता था। पर्सनल सिक्युरिटी गार्ड, महंगे मोबाइल रखता था। लोगों को फंसाने के लिए इंटरनेट पर बनाई अलग-अलग क्रिप्टो करेंसी से संबंधित वेबसाइट दिखाता था। शुरुआत में कई लोगों को छोटी राशि पर भारी मुनाफे के रूप में रुपए भी बांटता रहा। ताकि विश्वास पैदा हो जाए।  उसकी चाल कामयाब होती गई। रुपए लौटाते देख दूसरे लोग भी झांसे में फंसते गए। जब यही चेन लंबी हो जाती और जाल में फंसे लोगों की संख्या ज्यादा हो जाती थी, तो वो सब कुछ समेट कर गायब हो जाता था। किसी को मिल भी जाता ताे वो विदेशी कंपनी के डूबने का बहाना बनाकर लोगों को बेवकूफ बनाता था। वेबसाइट पर अपनी प्रोफाइल में खुद को कई क्षेत्रों का जानकार व एक्स्पर्ट बताता था। खासकर नेटवर्किंग इंडस्ट्रीज में खुद को 11 साल से ज्यादा का अनुभव रखने वाला बताता था। 

खुद निदेशक, सेमिनार में बताता था- मेहनत ही सफलता की सीढ़ी होती है

मुख्य अभियुक्त मनाेज कुमार पटेल उर्फ मानव शर्मा 10वीं फेल है। कम पढ़ा-लिखा हाेने के बावजूद उसने अपने शातिर दिमाग से बिटकॉइन की तर्ज पर फर्जी क्रिप्टोकरंसी बनाकर शहर के 100 से ज्यादा लोगों से 3 करोड़ रुपए ठग लिए। उसने अपना जाल राजस्थान के साथ ही गुजरात, महाराष्ट्र, पंजाब, दिल्ली व हरियाणा तक फैला कर कई लोगों ठगी की गई है। मनोज के साथ ही उसके पिता रामदीन, मनोज शर्मा, गजेंद्र पटेल, देवाराम उड़द, जयराम व दीपक श्रीवास्तव ने लोगों को ठगी का शिकार बनाया। उसके पिता झांसे में आए लोगों की अपने बेटे की साथ मीटिंग करवाता। जिसमें उसने दुबई घुमाने, लग्जरी गाड़ियां, ब्रांडेड माेबाइल फोन के साथ ही बिटकाॅइन के रूप में 10 गुना राशि देने का दावा किया। साथ ही कंपनी के फोटोग्राफ्स दिखाकर बड़े-बड़े वादे िदए। लालच में अाकर शहर के नामी व्यापारी, नौकरीपेशा लाेग व शिक्षक झांसे में अा गए। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना