--Advertisement--

जीएसटी काउंसिल ने हस्तशिल्प के उत्पादों पर नहीं बढ़ाई ड्यूटी ड्रायबैक

Jodhpur News - जीएसटी काउंसिल ने कई उत्पादों पर ड्यूटी ड्रायबैक की है, लेकिन इसमें जोधपुर के हैंडीक्राफ्ट उद्योग को कोई राहत...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 03:41 AM IST
Jodhpur News - gst council not to increase duty drawback on handicrafts products
जीएसटी काउंसिल ने कई उत्पादों पर ड्यूटी ड्रायबैक की है, लेकिन इसमें जोधपुर के हैंडीक्राफ्ट उद्योग को कोई राहत नहीं मिली है। इससे स्थानीय हैंडीक्राफ्ट व्यवसायियों की उम्मीदों को झटका लगा है। शनिवार को नई दिल्ली में हुई जीएसटी काउंसिल की बैठक में कई हस्तशिल्प उत्पादों पर ड्यूटी ड्रायबैक की गई है। जीएसटी से पूर्व हैंडीक्राफ्ट पर 5 प्रतिशत ड्यूटी ड्रायबैक थी। जीएसटी में इसे घटाकर 1.75 ड्यूटी कर दिया गया था। स्थानीय हैंडीक्राफ्ट एसोसिएशन ने यह ड्यूटी पुन: बढ़ाकर 5 प्रतिशत करने की मांग वित्त मंत्री और काउंसिल से की थी। लेकिन काउंसिल की ओर से जारी सूची में हैंडीक्राफ्ट उद्योग को किसी प्रकार की कोई राहत नहीं दी गई है। जोधपुर हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन के भरत दिनेश और जोधपुर हैंडीक्राफ्ट फेडरेशन के नरेश बोथरा ने बताया, कि हैंडीक्राफ्ट पर पुन: 5 प्रतिशत ड्यूटी ड्रायबैक करने मांग की गई थी, लेकिन उसमें कोई परिवर्तन नहीं किया गया है।

समिति की घोषणा में अग्रबाथी (3.9%), ईपीएनएस / पीतल / तांबा आर्ट वेयर (2.2%), लोह आर्ट वेयर (1.8%), लकड़ी के हस्तशिल्प (1.9%), पापीर माची (1.7%) की दर है। ग्लास आर्ट वेयर (2.2%), ग्लास आर्ट वेयर दो या दो से अधिक प्लाई ग्लास (2.5%), चांदी के कोटिंग (3.8%) के साथ ग्लास आर्ट वेयर, इमिटेशन आभूषण / एल्युमिनियम आर्ट वेयर / संगीत वाद्ययंत्र / उत्सव लेख (1.5%) और हस्तनिर्मित फीता (1.6%) अधिसूचित किया गया है।

X
Jodhpur News - gst council not to increase duty drawback on handicrafts products
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..