--Advertisement--

गुजरात के ठगों ने आहोर के मामा-भानजे को भी सस्ते सोने का लालच देकर ठगे थे ‌45.5 लाख रुपए

Dainik Bhaskar

Jul 17, 2018, 08:16 AM IST

फेसबुक पर बाजार से 10% कम भाव में सोने का झांसा देकर ठगने के चारों आरोपी रिमांड पर

ठगी के शिकार तेजराज व किरण सोन ठगी के शिकार तेजराज व किरण सोन

फलोदी/जोधपुर. फेसबुक पर फलोदी के दो युवकों से दोस्ती कर उन्हें बाजार से 10% कम भाव पर सोना देने का झांसा देकर 87.5 लाख रुपए ठगने के चारों आरोपियों को सोमवार को सीजेएम कोर्ट जोधपुर ने 19 जुलाई तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया। वहीं गुजरात के भुज निवासी इन ठगों के एक और शिकार आहोर के मामा-भानजा भी सामने आए हैं। उनसे भी इन्होंने फेसबुक पर दोस्ती की, फिर सस्ते सोने का झांसा देकर 45.50 लाख रुपए ठग लिए।

इस संबंध में इन लोगों ने 6 अक्टूबर 2017 में जालोर पुलिस अधीक्षक के समक्ष परिवाद भी पेश किया था। उल्लेखनीय है कि पुलिस ने रविवार को फलोदी के दो स्वर्णकारों जितेंद्र व सुभाष सोनी को सोना बेचने के नाम पर ठगने वाले गुजरात के भुज निवासी सुल्तान उर्फ विराट, अब्दुल भाई, बशीर और भीकमकोर निवासी भैराराम चौधरी को गिरफ्तार किया था।

ठगी का वैसा ही तरीका: सोना बेचने भुज बुलाया, पैसा लेकर माल नहीं दिया, साथी की बीमारी का बहाना बना वापस भेज दिया, जयपुर में फिर ठगा

जालोर के आहोर निवासी तेजराज पुत्र शांतिलाल सोनी अपने भानजे किरण पुत्र उम्मेदराज सोनी के साथ सोमवार को फलोदी आए। उन्होंने सीआई मदनसिंह से मुलाकात कर अपने साथ ही इसी प्रकार 45.50 लाख रुपए की ठगी होने की जानकारी दी।

- तेजराज सोनी ने बताया कि उनकी फेसबुक पर भुज निवासी प्रकाश सोलंकी से दोस्ती हुई। जिसने बताया कि वह एक ग्रुप के साथ मिलकर शुद्ध सोना होलसेल भाव पर बेचता है। उसने उन्हें बाजार भाव से कम रेट पर सोना देने का दावा किया। विश्वास में आकर वे अपने भानजे किरण के साथ कार लेकर भुज गए। वहां प्रकाश ने सुल्तान मिर्जा, अनीस पटेल व उसके एक नौकर से मिलवाया। सुल्तान ने सोने का सैंपल दिखाया।

- जिसे जांचने के बाद 1500 ग्राम सोना खरीदना तय हुआ। जिस पर उन्होंने वहीं 36 लाख 50 हजार रुपए नकद उन्हें दे दिए और बाकी 9 लाख रुपए सोना मिलने पर देना तय किया। इसके बाद उन्हें यह कहते हुए होटल भेज दिया गया कि हम माल लेकर होटल आ रहे हैं। लेकिन काफी देर बाद भी कोई नहीं आया तो उन्होंने फोन किया। जिस पर कहा कि अनीस भाई की तबीयत बिगड़ गई है, आप वापस राजस्थान चले जाओ, माल वहीं पहुंच जाएगा।

- वे वापस आ गए, लेकिन काफी समय तक वे उन्हें टरकाते रहे। माल नहीं आने पर वह दोबारा भुज गए तो उन्होंने कहा कि बहुत रुपया खर्च हो गया है और उनके पास माल भी नहीं है। उन्होंने जयपुर में भानूसिंह से माल दिलवाने की बात कहते हुए उससे मोबाइल पर बात भी करवा दी।

- वे बाद में जयपुर गए और होटल में भानू को बुलाया। भानू ने बकाया 9 लाख रुपए उनसे ले लिए और थोड़ी देर में माल लेकर आने का कहकर होटल से चला गया। लेकिन वह वापस नहीं आया। बाद में उनसे संपर्क भी नहीं हो पाया। इस प्रकार आरोपियों ने उनसे 45 लाख 50 हजार रुपए ठग लिए।

X
ठगी के शिकार तेजराज व किरण सोनठगी के शिकार तेजराज व किरण सोन
Astrology

Recommended

Click to listen..